देशी इंजन के साथ दौड़ेगी विदेशी ट्रेन

देशी इंजन के साथ दौड़ेगी विदेशी ट्रेनगाँव कनेक्शन

बरेली। स्पेन की ट्रेन टैल्गो का रविवार को उत्तर प्रदेश में बरेली और मुरादाबाद के बीच परीक्षण किया गया। ट्रेनों की गति बढ़ाने की रेलवे की रणनीति के तहत इस हल्की एवं तेज गति से चलने वाली ट्रेन का परीक्षण किया गया है। 

यह ट्रेन सुबह 9:05 बजे बरेली से रवाना हुई और 80-115 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलकर 10:15 बजे मुरादाबाद पहुंची। फिलहाल, दिल्ली-मुंबई राजधानी एक्सप्रेस 85 किलोमीटर प्रति घंटे की औसत गति से चलती है। इस ट्रेन की गति 115 किलोमीटर प्रति घंटे तक की है। इस परीक्षण में ट्रेन नौ डिब्बों के साथ दौड़ी। पहले परीक्षण में 90 किलोमीटर की लाइन पर 4,500 हार्सपावर के डीजल इंजन से यह ट्रेन के दौड़ी। पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक राजीव मिश्र ने यहां बताया “स्पेन से आए टैल्गो कोच का पहला स्पीड ट्रायल बरेली से हुआ। इसका सेंसर ट्रायल गत शुक्रवार को हुआ था।

स्पीड ट्रायल के लिये देशी इंजन के पीछे विदेशी कोच लगाये गये। मिश्र ने बताया कि बरेली से मुरादाबाद के बीच 12 जून तक ट्रायल चलेगा। इसके बाद पलवल ट्रैक पर 180 किलोेेमीटर और दिल्ली से मुंबई के बीच 220 किलोमीटर की रफ्तार से टैल्गो चलेगी।” उन्होंने आगे बताया “सभी ट्रायल पूरे होने के बाद रेल मंत्रालय ट्रायल रिपोर्ट का अध्ययन करके टैल्गो चलने का फैसला करेगा। एल्युमिनियम के बने होने की वजह से टैल्गो कोच का वजन भारतीय कोच के मुकाबले काफी कम है। एक कोच का वजन 20 टन है, जबकि भारतीय कोच 40 टन वजनी होता है। तकनीकी रूप से टैल्गो, ट्रेन के मुकाबले बेहतरीन है। टैल्गो में सुरक्षा के लिए पेंटरीकार में ज्वलनशील गैस के इस्तेमाल की जगह माइक्रोवेव तथा खाना पकाने की अन्य तकनीक का सहारा लिया जाएगा।”'

Tags:    India 
Share it
Top