बाराबंकी में आंधी-तूफान के कारण छह लोगों की मौत, दर्जनों घायल

रविवार रात आई आंधी तूफान में छह लोगों की मौत हो गयी जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए। तूफान की वजह से कई पेड़, होर्डिंग्स, बिजली के खंभे और तार टूटकर गिर गए। फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

बाराबंकी में आंधी-तूफान के कारण छह लोगों की मौत, दर्जनों घायल

बाराबंकी। रविवार रात आई आंधी तूफान में कम से छह लोगों की मौत हो गयी जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए। आंधी तूफान से सबसे ज्यादा बारांबकी जिला प्रभवित रहा। तूफान की वजह से कई पेड़, होर्डिंग्स, बिजली के खंभे और तार टूटकर गिर गए। फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। रविवार रात आई आंधी तूफान में कम से छह लोगों की मौत हो गयी जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए। आंधी तूफान से सबसे ज्यादा बारांबकी जिला प्रभवित रहा। तूफान की वजह से कई पेड़, होर्डिंग्स, बिजली के खंभे और तार टूटकर गिर गए। फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।
बीती रात तेज आंधी पानी ने 6 लोगों की जान ले ली। सेमरा से लखनऊ जा रहे मंगलू (38वर्ष) उनकी पत्नी शुशीला (35वर्ष) पुत्री सोनम (8माह) चन्दनापुर मोड़ पर पेड़ गिरने से घायल हो गए। आनन-फानन में तीनों को रामनगर कोतवाल जेएल सोनकर ने जिला अस्पताल भेजवाया। जहां के दौरानमंगलू व शुशीला की मौत हो गई, जबकि पुत्री को ट्रामा सेंटर भेजा गया। वहीं दूसरी घटना सुधियामऊ में हुई, जहां दीवार गिरने से साबितून (20वर्ष) व हमीदा (65वर्ष) की मौत हो गई। इसके साथ ही तीसरी घटना में महदेवा के मनीष अवस्थी (22वर्ष) घर जाते समय पेड़ के नीचे आ गए और मोत हो गई। एसडीएम रामनारायण यादव बताया मृतकों के परिजनों को राहत राशि दी जाएगी।


फसलों को भी हुआ नुकसान
तेज तूफान के साथ ओले गिरने से फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। दौलतपुर के किसान अमरेन्द्र प्रताप सिंह बताते हैं, " मेरे खेत में केले की फसल लगी थी। आंधी-पानी से काफी नुकसान हुआ है। करेला, मिर्चा, सहित तरबूज के पौधे आंधी के कारण बर्बाद हो गए।"वहीं गांगापुर के अश्वनी वर्मा बताते हैं, " मैंने अपने 60 बीघे खेत में तरबूज की फसल लगायी थी, जो आंधी पानी की भेट चढ गयी।" जिला कृषि उद्यान अधिकारी जय करन सिंह ने बताया कि आंधी पानी, पत्थर गिरने से केला, मिर्च, को आर्थिक नुकसान हुआ है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top