Top

दफ्तरों में गुटखा चबाते मिले कर्मचारी, जुर्माना

दफ्तरों में गुटखा चबाते मिले कर्मचारी, जुर्मानाgaonconnection

ललितपुर। केन्द्र सरकार व राज्य सरकार के अधिनस्थ कार्यालयों में घूमने पर आपको दीवारों पर सुनहरे अक्षरों में लिखा मिल जाता है कि यहां पान, मसाला, गुटखा चबाना, बीड़ी-सिगरेट पीना प्रतिबंधित है, ऐसा करते पाए जाने पर जुर्माना होगा। ये शब्द केवल देखने में ही अच्छे लगते हैं। कार्यालयों के अधिकारी हों या आमजन अधिकांश के मुंह में गुटखा या पान जरूर दिख जाता है, और फिर वो कार्यालय की दीवारों को रंगने से नहीं चूकते।

ललितपुर जनपद के कार्यालयों की दिवारें थूक से रंगी होना कोई नई बात नहीं है। जब अधिकारी ही दफ्तरों में गुटखा चबाते दिखेंगे तो आम जनमानस से कौन कहने वाला होगा? इसके लिए आवश्यक है कि अधिकारी गंभीर हों तो निश्चित ही अधिनस्थ कर्मचारी और बाबू गुटखा चबाने की जहमत तक नहीं उठाएंगे। सरकारी कार्यालयों में ध्रूमपान को लेकर शासनादेश भी जारी हुआ व जिलाधिकारी ने सरकारी विभागों में ध्रूमपान न करने के निर्देश भी। पर कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारी अपने आप को बदलने के लिए तैयार नहीं हैं।

जनपद ललितपुर के जिला विकास अधिकारी देवेन्द्र प्रताप सिंह ने विकास भवन में स्थित तमाम कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान कार्यालय में कई जगह गुटखों की पिचकारी की गंदगी दिखी। इतना ही नहीं चार कर्मचारी गुटखा खाते दिखे, जिन पर जुर्माना लगाया, जिससे विभाग में हड़कम्प मच गया।

जिला विकास अधिकारी ने निरीक्षण दौरान परियोजना अधिकारी नेडा विनोद कुमार, सहायक निबंधक सरकारी समिति कार्यालय के कर्मचारी राम प्रताप, जिला कृषि अधिकारी कार्यालय के कर्मचारी मदन और पीएजीएसवाई कार्यालय के सहायक अभियंता एमके चौधरी को गुटखा चबाते देखा तो इन सब से दो-दो सौ का जुर्माना वसूला। देवेन्द्र प्रताप सिंह ने चेतावनी देते हुऐ कहा, "गुटखा खाते पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.