दरी नहीं, कुर्सी पर बैठकर पढ़ेंगे बेसिक स्कूलों के बच्चे

दरी नहीं, कुर्सी पर बैठकर पढ़ेंगे बेसिक स्कूलों के बच्चेgaonconnection

कन्नौज। बेसिक स्कूलों के बच्चे अब दरी या टाट-पट्टे पर बैठकर पढ़ाई नहीं करेंगे। अगर जिले के मुखिया की मुहिम सफल रही तो कॉन्वेंट स्कूलों की तरह नौनिहाल कुर्सियों पर बैठकर राजा-बाबू बनकर पढ़ाई करेंगे। कुछ स्कूलों में फर्नीचर मुहैया भी करा दिया गया है। यहां तक कि डीएम और सीडीओ ने अपने वेतन से यह सुविधा उपलब्ध कराई है। कोल्ड स्टोरेज मालिकों ने भी इसमें साथ देना शुरू कर दिया है। 

बेसिक स्कूलों में शैक्षिक वातावरण अच्छा करने के लिए जुटे डीएम अनुज कुमार झा और उनकी टीम ने नौनिहालों को कुर्सियों-मेज पर बिठाकर पढ़ाई करने की पहल शुरू कर दी है। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की बढ़ती हाजिरी समेत आए अन्य शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार की वजह से करीब डेढ़ महीने पहले सीडीओ उदयराज यादव ने जिले के कोल्ड स्टोरेज मालिकों और संचालकों की बैठक की थी। इसमें उन्होंने अच्छी शैक्षिक गुणवत्ता वाले परिषदीय स्कूलों को स्वेच्छा से फर्नीचर दान करने की बात रखी थी। 

कहा कि इससे गरीबों और गाँव के बच्चे कुर्सी पर बैठकर और मेज पर किताब-कॉपी रखकर पढ़ाई कर सकेंगे। बैठक के बाद कुछ कोल्ड स्टोरेज मालिक मान भी गए। उन्होंने फर्नीचर दान भी किया। बेसिक स्कूलों में शिक्षकों की हाजिरी वाले एसएमएस प्रणाली के इंचार्ज दीपेश चौहान ने बताया कि डीएम अनुज कुमार झा ने जलालाबाद ब्लॉक क्षेत्र के प्राथमिक स्कूल अनौगी, गुगरापुर के प्राथमिक स्कूल बिचपुरिया, सीडीओ उदयराज यादव ने गुगरापुर के उच्च प्राथमिक स्कूल लालपुर व एक्सईएन आरईडी सिराजुद्दीन ने प्राथमिक स्कूल राजूपुर गुगरापुर को फर्नीचर दिया है। 

रिपोर्टर-अजय मिश्र

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.