भारतीय वायु सेना के लापता सुखोई लड़ाकू विमान की हमें कोई जानकारी नहीं : चीन

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   24 May 2017 3:26 PM GMT

भारतीय वायु सेना के लापता सुखोई लड़ाकू विमान की हमें कोई जानकारी नहीं : चीनचीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग।

बीजिंग (भाषा)। चीन ने आज कहा कि उसके पास भारतीय वायुसेना के लापता सुखोई लड़ाकू विमान के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इस विमान में दो पायलट सवार थे। साथ ही चीन ने नई दिल्ली से कहा कि वह दो पक्षों के बीच शांति कायम करने के लिए बनी व्यवस्था का पालन करे।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग से लापता सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान के बारे में पूछा गया था, साथ ही यह भी पूछा गया था कि क्या चीन लापता विमान को खेाजने में भारत की मदद करेगा, तो उन्होंने कहा, ‘‘जिस स्थिति का आपने जिक्र किया है, उसके संबंध में मेरे पास फिलहाल कोई जानकारी नहीं है।''

लगभग 24 घंटे पहले सुखोई विमान ने असम के तेजपुर वायुसेना स्टेशन से उड़ान भरी थी। तब से लड़ाकू विमान लापता है।

यह भी पढ़ें हमे कमजोर करने के लिए भारत को दलाई लामा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए : चीन

लु ने कहा, ‘‘दक्षिण तिब्बत (अरुणाचल प्रदेश) में स्थिति पर हम करीब से नजर रख रहे हैं।'' उन्होंने यह उन खबरों के संदर्भ में कहा जिनमें बताया गया था कि विमान लापता होने से पहले उसी क्षेत्र में उड़ान भर रहा था।'' इसके साथ ही उन्होंने भारत और चीन के बीच सीमा विवाद का जिक्र करते हुए कहा कि ‘‘सबसे पहले तो चीन, भारत-चीन सीमा के पूर्वी क्षेत्र में अपने रुख पर स्पष्ट रुप से कायम है।''

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि भारत दोनों पक्षों के बीच सीमांत क्षेत्रों में शांति और स्थिरता कायम करने के लिए बनी व्यवस्थाओं का पालन करेगा।''

यह भी पढ़ें अरुणाचल प्रदेश के छह स्थानों को मानकीकृत आधिकारिक नाम देना हमारा ‘‘कानूनी अधिकार’’ : चीन

चीन की यह बेहद रुखी प्रतिक्रिया दोनों देशों के बीच विभिन्न मुद्दों को लेकर बढ़ रहे मतभेदों के बीच आई है। इसमें से एक मुद्दा तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के अरुणाचल प्रदेश दौरे का भी है. गौरतलब है कि बीजिंग अरुणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत मानता है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top