कैलाश मानसरोवर के मार्ग में चीन ने लगाया अड़ंगा, श्रद्धालु फंसे

कैलाश मानसरोवर के मार्ग में चीन ने लगाया अड़ंगा, श्रद्धालु फंसेकैलाश मानसरोवर।

नई दिल्ली। चीन ने आज कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर निकले श्रद्धालुओं के जत्थे को नाथुला पास के आगे जाने से रोक दिया। इसकी वजह से यात्रा में शामिल श्रद्धालुओें के दो जत्थे रास्ते में ही फंसे हुए हैं। वापस आ रहे इस जत्थें में करीब 80 यात्रियों के फंसे होने की सूचना है। चीन की ओर से इजाजत नहीं मिलने से ये श्रद्धालु भारतीय सरहद पर 20 जून से ही फंसे हुए बताए जा रहे हैं।

शुक्रवार शाम तक यात्रियों के सिक्किम की राजधानी गंगटोक पहुंचने की सूचना है। इस मामले में चीनी सरकार के मुताबिक तिब्बत से होकर कैलाश मानसरोवर जाने वाले यह रास्ता जमीन खिसकने की वजह से बंद है। जबकि, भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि श्रद्धालुओं की यात्रा में कुछ मुश्किल आ रही है। चीनी अधिकारियों से बातचीत जारी है।

ये भी पढ़ें : अमरनाथ यात्रा : पूर्ण आकार में प्रकट हुए बाबा बर्फानी, 29 जून से शुरू होंगे दर्शन

वहीं, तीर्थयात्रियों का कहना है कि चीन की ओर से रास्ता रोकने के बाद, उन्हें प्रवेश की मंजूरी नहीं मिलने का कोई कारण नहीं बताया गया। उन्हें नाथुला के पास शेरतांग के एक कैंप में रखा गया था। अब इस यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को उत्तराखंड के दुर्गम रास्ते से यात्रा करनी पड़ेगी। बता दें कि बीस हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित मानसरोवर अदभुत सौन्दर्य से घिरा तीर्थ स्थल है। यह स्थान हिंदू-जैन समेत बौद्धों की आस्था का भी केंद्र है। यात्रा इस महीने ही 12 तारीख को शुरू हुई थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top