सिर्फ कुछ फोन कॉल आत्महत्या के प्रयास को रोक सकते हैं 

सिर्फ कुछ फोन कॉल आत्महत्या के प्रयास को रोक सकते हैं सिर्फ कुछ फोन कॉल आत्महत्या के प्रयास को रोक सकता है। 

वाशिंगटन (भाषा)। आत्महत्या के प्रयासों को रोकने के लिए एक नया अनुसंधान सामने आया है। अगर किसी व्यक्ति में आत्महत्या करने की प्रवृति है तो उस व्यक्ति को कुछ फोन कॉल करके भविष्य में उसके द्वारा आत्महत्या के प्रयास को कम किया जा सकता है।

अगर ऐसा किया जाए तो कई जिंदगियां इससे बच सकती हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ कॉलोराडो अनासुट्स मेडिकल कैंपस और ब्राउन यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया है कि आत्महत्या का प्रयास करने वाले मरीजों को आपातकालीन विभाग से छुट्टी देने के बाद फोन कॉल करने से उनमें भविष्य में आत्महत्या के प्रयास में 30 फीसदी की कमी आती है।

ये भी पढ़ें- 50 बोरी आलू का मंडी में किसान को मिला एक रुपया, ‘पंजाब-हरियाणा में 70 आलू किसानों ने की आत्महत्या’

इस अनुसंधान में अमेरिका के 1,376 मरीज शामिल थे और यह परीक्षण एक साल तक चला है। इन मरीजों की विशेष जांच की गई, इन्हें सुरक्षा मार्गदर्शन और बाद में फोन कॉल भी किया गया। सीयू अनासुट्स के प्रोफेसर माइकल एलन ने बताया, ‘‘वैसे व्यक्ति जिनमें आत्महत्या की प्रवृति होती है वह हमेशा ही समाजिक तौर पर अलग-थलग होते हैं, इसलिए इनसे किसी भी तरह का सकारात्मक संपर्क उन्हें बेहतर महसूस करवाता है।''

ये भी पढ़ें- 2015 में 9 हजार छात्रों ने की थी आत्महत्या, आप सिर पर न सवार होने दें परीक्षा का भूत

अमेरिका में आत्महत्या मौत का 10वां बड़ा कारण है। प्रत्येक साल 10 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान लेने की कोशिश करते हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे मरीजों का सिर्फ इलाज करना काफी नहीं होता है। उन्होंने बताया, ‘‘हम उन्हें अस्पताल से छुट्टी देने के बाद सात बार तक फोन करते हैं।'' एलन ने बताया कि यह कम तकनीक वाला और कम खर्चे वाला बेहद प्रभावी परिणाम देने वाला बीच-बचाव है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top