ट्रंप ने तीसरी तिमाही का वेतन नशे की महामारी से लड़ने के लिए किया दान

ट्रंप ने तीसरी तिमाही का वेतन नशे की महामारी से लड़ने के लिए किया दानअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। 

वाशिंगटन (भाषा)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपना तीसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) का वेतन स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग (एचएचएस) को दान कर दिया है। उन्होंने यह दान अफीम के अत्याधिक सेवन से होने वाले मानसिक प्रभावों (ओपिऑइड) से लड़ने में मदद के लिए किया है।

ट्रंप का वार्षिक वेतन 4,00,000 डॉलर है। इस हिसाब से एक तिमाही का वेतन 1,00,000 डॉलर होता है। एचएचएस की कार्यवाहक सेक्रेटरी एरिक हार्गन ने यहां व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ''वेतन दान करने का उनका निर्णय उनकी दया, उनकी देशभक्ति और अमेरिकी लोगों के प्रति उनके कर्तव्य को दिखाता है। लेकिन उनकी सहानुभूति सबसे ऊपर है क्योंकि एचएचएस उनके दान का उपयोग अमेरिका के सबसे बड़े संकट ओपिऑइड से निपटने में करने वाला है।''

ये भी पढ़ें - डोनाल्ड ट्रंप मेरी दुल्हन नहीं, मैं उनका दूल्हा नहीं : पुतिन

हार्गन ने कहा कि अपने कार्यकाल के पहले दिन से ट्रंप सरकार ने इस मुद्दे पर काम करना शुरु कर दिया है। वह यह कार्य पूरे संघीय सरकार के स्तर पर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ओपिऑइड से हर दिन करीब 175 अमेरिकियों की मौत होती है। यही वजह है कि अक्तूबर में अपने भाषण में ट्रंप ने एचएचएस से इस समस्या को राष्ट्रीय संकट घोषित करने के लिए कहा।

ये भी पढ़ें - क्या तीसरे विश्वयुद्ध का कारण बनेंगे डोनाल्ड ट्रंप?

Share it
Share it
Share it
Top