Exit Poll के मुताबिक एनडीए की हो सकती है वापसी, ममता ने कहा- ईवीएम में हेरफेर के लिए है ये रणनीति

Exit Poll के मुताबिक एनडीए की हो सकती है वापसी, ममता ने कहा- ईवीएम में हेरफेर के लिए है ये रणनीति

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के रविवार शाम आए ज्यादातर एक्जिट पोल के मुताबिक नरेंद्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री के रूप में वापसी करने जा रहे हैं। यहां तक कि कुछ एक्जिट पोल ने भाजपा नीत राजग को बहुमत के लिए जरूरी 272 सीटों से कहीं अधिक 300 प्लस सीट मिलने का अनुमान व्यक्त किया है। हालांकि कई एक्जिट पोल के मुताबिक भाजपा-गठबंधन को उत्तर प्रदेश में खासा नुकसान हो रहा है।

2014 के आम चुनाव में पार्टी को 71 सीटें मिली थीं। एबीपी नीलसन की मानें तो भाजपा-गठबंधन को उत्तर प्रदेश में सिर्फ 22 सीटें मिलने की संभावना है, जबकि न्यूज 18- इप्सोस और न्यूज 24 चाणक्य के अनुसार राजग को 60 से ज्यादा सीटें मिलेंगी। भगवा पार्टी को पश्चिम बंगाल और ओडिशा में इस बार ज्यादा फायदा होता दिख रहा है।

न्यूज18 इपसस, इंडिया टुडे-एक्सिस और न्यूज24 चाणक्य के एक्जिट पोल के मुताबिक राजग को क्रमश: 336, 339-368 और 336-364 सीटें मिलने जा रही हैं। वहीं, एबीपी न्यूज नीलसन और नेता-न्यूज एक्स के अनुसार सत्तारूढ़ राजग गठबंधन को बहुमत के लिए जरूरी 272 सीटों से कुछ कम सीट मिलेंगी।

लोकसभा की 543 में से 542 सीटों के लिए मतदान 19 मई को पूरा हो गया। चुनाव आयोग ने नकदी के दुरुपयोग के मामले में तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर मतदान रद्द कर दिया था। लोकसभा चुनाव के लिए सात चरणों में मतदान 11 अप्रैल से 19 मई तक चला।

वोटों की गिनती और साथ ही परिणामों की घोषणा 23 मई को होनी है। बहुमत के लिए किसी भी पार्टी या गठबंधन को कम से कम 272 सीटें चाहिए। टाइम्स नाउ चैनल पर प्रसारित दो एक्जिट पोल के मुताबिक राजग को 296 से 306 सीटें मिलने की संभावना है जबकि कांग्रेस-नीत संप्रग को 126 से 132 सीटें मिल सकती हैं।

सी-वोटर-रिपब्लिक के एक्जिट पोल के मुताबिक, राजग और संप्रग को क्रमश: 287 और 128 सीटें मिलने की संभावना है। हालांकि नेक्सा-न्यूज एक्स के अनुसार, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को बहुमत से कम 242 सीटें मिलने की संभावना है। इसने संप्रग को 164 सीटें दी हैं।

न्यूज 18 पर आए एक्जिट पोल के मुताबिक, राजग को 292 से 312 सीटें मिलेंगी जबकि संप्रग को 62 से 72 सीटें मिलने की संभावना है। कई एक्जिट पोल के मुताबिक उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन भाजपा को खासा नुकसान पहुंचा सकता है।

वर्ष 2014 के चुनाव में राजग को राज्य की 80 लोकसभा सीटों में से 73 सीटें मिली थीं। कुछ एक्जिट पोल की मानें तो इस बार भाजपा गठबंधन को उत्तर प्रदेश में 40 सीटें भी नहीं मिलेंगी। वहीं, कुछ एक्जिट पोल में उत्तर प्रदेश में भाजपा को 60 से अधिक सीट मिलने को पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है।

भाजपा ने कहा, एक्जिट पोल से मोदी के पक्ष में माहौल का पता चला, विपक्ष ने पूर्वानुमानों को किया खारिज

एक्जिट पोल पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्साहित प्रतिक्रिया दी और कहा कि इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में माहौल का पता चलता है। हालांकि विपक्षी दलों ने एक्जिट पोल को खारिज किया है। चुनाव परिणाम की घोषणा से पहले आये विभिन्न एक्जिट पोल में मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की वापसी का पूर्वानुमान जताया गया है।

भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसम्हिा राव ने कहा कि लोगों ने मोदी के अच्छे प्रशासन को पुरस्कार दिया है। उन्होंने कहा "एक्जिट पोल से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के लिए बेहद सकारात्मक मतदान होने के स्पष्ट संकेत मिलते हैं। मोदी ने अतुल्य समर्पण से देश की सेवा की है। लोग अच्छे प्रशासन को पुरस्कार देते हैं, यह एक बार फिर से उत्साहजनक जनमत से साबित हुआ है। यह बुराइयां करने वाले उस विपक्ष को तमाचा है जो आधारहीन आरोप लगाता है और झूठ बोलता है।"

यह भी पढ़ें- मोदी जी आपने आम खाना सिखा दिया, यह बताइए बेरोजगारों के लिए क्‍या किया: राहुल गांधी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने एक्जिट पोल को अटकलबाजी करार देते हुए कहा कि उन्हें ऐसे सर्वेक्षणों पर भरोसा नहीं क्योंकि इस रणनीति का इस्तेमाल ईवीएम में गड़बड़ी करने के लिए किया जाता है।

उन्होंने ट्वीट किया "मैं एक्जिट पोल के कयासों पर भरोसा नहीं करती। यह रणनीति अटकलबाजी के जरिए हजारों ईवीएम को बदलने या उनमें हेरफेर करने के लिए प्रयुक्त होती है। मैं सभी विपक्षी पार्टियों से एकजुट, मजबूत और साहसी रहने की अपील करती हूं।"


कांग्रेस के शशि थरूर ने दावा किया कि एक्जिट पोल गलत होते हैं। उन्होंने अपनी बात सही साबित करने के लिए आस्ट्रेलिया के चुनाव का हवाला दिया जहां कई एक्जिट पोल गलत साबित हुए। हालांकि कांग्रेस की सहयोगी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि सारे एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं।

उन्होंने कहा "सारे एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं। यह टीवी बंद करने, सोशल मीडिया से लॉग आउट करने का समय है तथा यह देखना है कि क्या 23 मई के बाद दुनिया अपनी धुरी पर अभी भी घूम रही है।" कांग्रेस के प्रवक्ता संजय झा ने कहा कि शांत मतदाता ही 23 मई को राजा साबित होंगे। भाकपा के डी राजा ने भी पूर्वानुमान को खारिज करते हुए कहा कि ये सिर्फ ट्रेंड भर हैं।

दिल्ली में 2014 दोहरा सकती है भाजपा

अधिकतर एक्जिट पोल में यह पूर्वानुमान जताया गया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करने वाली है। कई एक्जिट पोल के अनुसार अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) को दिल्ली में एक भी सीट नहीं मिलने वाली है। चुनाव परिणाम की घोषणा 23 मई को होगी। कुछ एक्जिट पोल में कहा गया कि कांग्रेस को दिल्ली में एक सीट मिल सकती है।

यदि एक्जिट पोल सही साबित हुए तो यह आप के लिए बड़ा झटका होगा। इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के एक्जिट पोल के अनुसार दिल्ली में भाजपा छह से सात सीटें जीत सकती है जबकि कांग्रेस को शून्य या एक सीट मिल सकती है। न्यूज 24-चाणक्य के हिसाब से दिल्ली की सभी सात सीटें भाजपा के खाते में जा सकती हैं। न्यूज 18-इप्सोस के अनुसार दिल्ली में भाजपा को छह से सात सीटें तथा कांग्रेस को एक सीट मिल सकती है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top