एक माह में कैसे पूरा होगा शौचालय निर्माण का लक्ष्य

Shrivats AwasthiShrivats Awasthi   27 Feb 2017 4:40 PM GMT

एक माह में कैसे पूरा होगा शौचालय निर्माण का लक्ष्यप्रतीकात्मक फोटो।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

उन्नाव। ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय निर्माण में जो रफ्तार प्रशासन ने शुरुआत में पकड़ी थी, वह समय बीतने के साथ ही सुस्त हो गई है। मौजूदा समय में तो शौचालय निर्माण में पूरी तरह से ब्रेक लग गया है। नतीजतन लक्ष्य के सापेक्ष अब तक महज 39 फीसदी ही शौचालय का निर्माण पूरा हो सका है।

यह हाल तब है जब तय लक्ष्य को पूरा करने में महज एक माह का ही समय शेष बचा है। ऐसे में प्रशासन एक माह के अंदर 61 फीसदी शौचालय का निर्माण कैसे करेगा, यह एक अहम सवाल बन गया है। शौचालय निर्माण की धीमी रफ़्तार पर विभागीय अधिकारियों का कहना है कि चुनाव के फेर में काम धीमा हुआ है। वर्ष 2016-2017 में स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत जिले में 22,705 शौचालय बनने थे। शौचालय निर्माण के लिए 141 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया था। शुरुआत में शौचालय निर्माण में तेजी दिखाई दी, लेकिन बाद में यह रफ्तार अचानक सुस्त पड़ गई। निर्माण में सुस्त रफ़्तार पर अधिकारी आचार संहिता का हवाला दे रहे हैं। जिले में अब तक मात्र 8,962 शौचालय ही बनकर तैयार हो पाए हैं।

जिला पंचायत राज विभाग के सूत्रों की मानें तो जनवरी माह में विधानसभा चुनाव की अधिसूचना लागू हो गई थी। इसके बाद विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की मतदान कराने में ड्यूटी लगा दी गई थी। इस बारे में जिला पंचायत राज अधिकारी सर्वेश कुमार पांडेय ने बताया, ‘’चुनाव के चलते कुछ काम प्रभावित हुआ है। अब चुनाव समाप्त हो चुका है। ऐसे में फोकस केवल शौचालय निर्माण की ओर रखा जाएगा और एक माह के अंदर लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जाएगा।’’

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top