जहां देखी जानी थी नब्ज, पाथे जा रहे हैं कंडे

जहां देखी जानी थी नब्ज, पाथे जा रहे हैं कंडेरायबरेली के जगतपुर गाँव में एएनएम सेंटर पर पाथे जा रहे हैं उपले।

प्रिया चौरसिया ,स्वयं कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

रायबरेली। “जब जगतपुर गाँव में एएनएम सेंटर बना था तब ग्रामीणों को बताया गया था कि इस सेन्टर में एएनएम हमेशा उपलब्ध रहेंगी। इसके लिये आवास भी बनाया गया था। मगर अब तो यह सेन्टर विरान पड़ा है। यहां कोई आता-जाता नहीं है।” यह कहना है 37 वर्षीय फूला देवी का।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत गाँव-गाँव में स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के लिये एएनएम सेन्टर खोले गये थे, जिनमें रहने का इंतजाम भी किया गया था, परन्तु अब यह सेन्टर बेकार साबित हो रहे हैं। रायबरेली जिला के बछरावाँ ब्लॉक में ही 10 एएनएम सेंटर हैं पर इनमें से पांच सेन्टर बेकार पड़े हैं। सेंहगों, असहन जगतपुर, बन्नावाँ, दोस्तपुर कुर्री सुदौली के सेन्टर पर ताला लगा हुआ है।

बछरावाँ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के ब्लॉक कार्यक्रम के अधिकारी धर्मेन्द्र चौहान बताते हैं कि जिले में एएनएम की कमी के कारण हर सेन्टर पर एएनएम तैनात नहीं है, लेकिन इसकी वजह से स्वास्थ्य कार्यक्रम पर कोई प्रभाव न पड़े, इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top