कालाधन, कर चोरी के मुद्दे पर स्विटजरलैंड के साथ बेहतर तालमेलः अधिकारी

कालाधन, कर चोरी के मुद्दे पर स्विटजरलैंड के साथ बेहतर तालमेलः अधिकारीgaonconnection

वाशिंगटन (भाषा)। कालेधन और कर चोरी के मुद्दे पर अब भारत और स्विटजरलैंड के बीच पहले से बेहतर तालमेल बना है। एक शीर्ष भारतीय अधिकारी ने यह बात कही है।

एक दिन पहले ही स्विटजरलैंड ने इन मुद्दों पर भारत के साथ सहयोग बढ़ाने का आश्वासन दिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की स्विटजरलैंड यात्रा के एक दिन बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने  संवाददाताओं से कहा, ‘‘कालेधन और कर चोरी के मुद्दे पर स्पष्ट रुप से आपसी सोच पहले से बेहतर हुई है।'' स्वरुप ने कहा, ‘‘स्विस राष्ट्रपति जोहान श्नाइडर-अम्मान ने जैसा कि कहा है कि स्विटजरलैंड ऐसा देश नहीं है जो कि इस तरह के कारनामों का समर्थन करता है। स्विटजरलैंड ऐसा देश है जो कि इन मुद्दों में अंतरराष्ट्रीय मुख्य धारा में रहना चाहता है और बेशक इन मुद्दों को लेकर भारत और स्विटजरलैंड के बीच आगे और सहयोग होना चाहिये।'' प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल स्विस राष्ट्रपति श्नाइडर अम्मान के साथ अपनी बातचीत में भारतीयों द्वारा कालधन और कर चोरी का मुद्दा उठाया था जिसके जवाब में स्विस राष्ट्रपति ने भारत के साथ सहयोग का स्तर बढ़ाने की पेशकश की थी।

श्नाइडर-अम्मान ने कहा कि उनकी सरकार अंतरराष्ट्रीय वित्तीय मामलों के प्रमुख अधिकारी को 14 जून को भारत भेजेगी ताकि इस मुद्दे पर सहयोग बढ़ाने की संभावनाओं का पता लगाया जा सके। स्वरुप ने कहा कि परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) की सदस्यता एक अन्य प्रमुख मुद्दा है जिसपर स्विटजरलैंड में विचार विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली को इस मुद्दे पर भी स्विस राष्ट्रपति की तरफ से बेहतर आश्वासन मिला। स्विस राष्ट्रपति ने खुद कहा है कि वह एनएसजी में भारत की सदस्यता का समर्थन करेंगे।

Tags:    India 
Share it
Top