कांग्रेस के बागी विधायक नहीं दे पाएंगे वोट, हाईकोर्ट ने खारिज की अर्जी

कांग्रेस के बागी विधायक नहीं दे पाएंगे वोट, हाईकोर्ट ने खारिज की अर्जीgaonconnection, कांग्रेस के बागी विधायक नहीं दे पाएंगे वोट, हाईकोर्ट ने खारिज की अर्जी

नई दिल्ली। उत्तराखंड में सरकार बनाने को लेकर चल रही कवायद के बीच हरीश रावत के लिए राहत देने वाली ख़बर आई है। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कांग्रेस के नौ बागी विधायकों की अर्ज़ी खारिज कर दी है। अर्जी खारिज होने से कांग्रेस के 9 बागी विधायक कल बहुमत परीक्षण में वोट नहीं दे पाएंगे।

हाईकोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस के 9 बागी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख़ कर लिया है। इस मामले पर स्पीकर ने भी कैविएट लगा रखा है इसलिए बिना उनका पक्ष सुने बागियों पर कोर्ट कोई फैसला नहीं करेगा। स्पीकर ने 9 बागियों को अयोग्य करार दिया है। 

उत्तराखंड में हरीश रावत को बहुमत साबित के लिए अब 24 घंटे से भी कम का समय रह गया है, ऐसे में सियासी तोड़-जोड़ और कानूनी दांव पेंच का सिलसिला चरम पर है लेकिन कांग्रेस के 9 बागी विधायकों की अर्जी खारिज होने से हरीश रावत खेमे में राहत है।

पूछताछ के लिए नहीं आएंगे रावत

विधायकों को खरीदने के आरोपों में सीबीआई पूछताछ के लिए उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत नहीं आएंगे। उन्हें आज इस मामले में सीबीआई के सवालों का सामना करना था। इस बीच इस मुद्दे पर राजनीति गरमाती जा रही है। अभी पुराने स्टिंग को लेकर विवाद जारी ही है कि उत्तराखंड में आए दूसरे स्टिंग ने मामला और गरमा दिया है। इस स्टिंग के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या विधायकों को साथ रखने के लिए हरीश रावत ने 12 विधायकों को 25-25 लाख रुपये दिए हैं ?

बागी विधायक हरक सिंह रावत ने कथित तौर पर एक समाचार चैनल के साथ मिलकर कांग्रेस के विधायक मदन सिंह बिष्ठ का स्टिंग किया। स्टिंग में मदन सिंह बिष्ट कह रहे हैं कि हरीश रावत के साथ जुड़े रहने के लिए कांग्रेस और सहयोगी विधायकों को 25-25 लाख रुपये दिए गए।

पूर्व सीएम हरीश रावत ने बीजेपी पर कांग्रेस विधायकों को धमकाने के साथ-साथ फोन टेपिंग का भी आरोप लगाया गया है। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि रावत सबसे भ्रष्ट सीएम, सरकार बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top