किसानों को बीज और खाद के लिए अब नहीं करना होगा इंतजार

किसानों को बीज और खाद के लिए अब नहीं करना होगा इंतजारgaonconnection

लखनऊ। खरीफ सीजन की बुवाई के लिए अभी से तैयारी कर रहे प्रदेश के किसानों को अब बीज, खाद और कृषि रक्षा रसायनों के लिए इंतजार करना नहीं होगा। एक सप्ताह के अंदर साधन सहकारी समितियों और सेवा केन्द्र केन्द्रों पर उनको उपलब्ध हो जाएगा।

शनिवार को उत्तर प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने उत्तर प्रदेश के सभी मंडलीय संयुक्त आयुक्त, संयुक्त निबंधक, उप आयुक्त और उप निबंधक के साथ बैठक करते हुए निर्देश दिया कि किसानों का समय से बीज, उवर्रक उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि सहकारिता विभाग से संबंधित किसानों के दीर्घ कालीन कर्ज के जो मामलें लंबित हैं उन्हें मध्यस्तता के माध्यम से जल्द से जल्द निटाया जाए।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इंदिरा नगर के एसीएसटीआई भवन में आयेाजित इस विभागीय बैठक में सहकारिता मंत्री ने कहा कि उत्रत प्रदेश कोआपरेटिव फेडरेशन की तरफ से किसानों को जो उर्वरक दिए जाते हैं। उन्हें इस बार यह सुनिश्चित किया जाए कि सहकारी समितियों ओर कृषि सेवा केन्द्र के माध्यम से यूरिया के साथ ही जिंक सलफेट उलब्ध कराया जाए।

किसानों को कृषि निवेश के अंतगर्त उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम और कृभको से उच्चतम प्रजाति के प्रमाणित खरीफ और रबी की फसलों के लिए बीज उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

सहकारित मंत्री ने कहा कि सरकार किसानों की उपज का मूल्य दिलाने के लिए कृत संकल्प है। ऐसे में उन्होंने गेहूं के सभी क्रय केन्द्रों पर किसानों के लिए बोरों और पैसे की व्यवस्था के साथ ह तौल पर विशेष ध्यान देने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यालय स्तर पर एक सेल बनाया जाए जो गेहूं क्रय केन्द्रों पर लगाए गए कांटों की मानीटरिंक करे कि तौल सही हो रही है कि नहीं। उन्होंने कहा कि रोज कितनी गेहूं की खरीद की गई उसकी रिपोर्ट छह बजे तक भेज दी जाए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top