इन नई प्रजातियों से होगी गेहूं की ज्यादा पैदावार

इन नई प्रजातियों से होगी गेहूं की ज्यादा पैदावारफोटो साभार: इंटरनेट

मैनपुरी। धान की फसल का कटान पूरा होते ही अब कृषि विभाग ने रबी के सीजन में गेहूं बीज वितरण की कार्य योजना तैयार कर ली है। जिले के किसानों को इस बार चार नई उन्नतशील प्रजातियों के बीज उपलब्ध कराए जाएंगे। बीज वितरण की जिम्मेदारी राजकीय बीज भंडार को सौंपी गई है।

रबी का सीजन शुरू होने के साथ ही कृषि विभाग ने अनुदान पर गेहूं के बीज वितरण की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। राजकीय बीज भंडारों पर गेहूं के बीज की अलग-अलग प्रजातियो का स्टॉक पहुंचाया गया है। केंद्रों पर बिक्री के लिए भेजे गए बीज को पंजीकृत किसान अनुदान की सुविधा के साथ खरीद सकेंगे। कृषि विभाग ने किसानों के लिए एचडी 2697, राज 4120, डीबीडब्ल्यू 17, डब्ल्यूएच 1105 प्रजातियों के बीज गोदामों पर भेजे हैं।

पहले चरण में विभाग ने राजकीय बीज भंडारों पर पांच हजार कुंतल गेहूं का बीज मंगाया है। इस वर्ष छह हजार कुंतल गेहूं बीज बिक्री का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रत्येक एक किलो पर किसानों को 14 रूपए का अनुदान सरकार द्वारा मुहैया कराया जाएगा। पंजीकृत किसानों को पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर गेहूं का बीज दिया जाएगा। जिला कृषि अधिकारी पीसी विश्वकर्मा का कहना है कि सब्सिडी का फायदा पंजीकृत किसानों को ही मिलेगा। सब्सिडी की धनराशि सीधे किसानों के खातों में भेजी जाएगी।

नवंबर के अंतिम संप्ताह तक बीज का वितरण कराया जाएगा। जिले में किसानों को मिलने वाले गेहूं बीज के मूल्य का निर्धारण कर दिया गया है। प्रमाणित बीज को 31 रूपए 20 पैसे प्रति किलो व आधारी बीज को 35 रूपए 55 पैसे प्रति किलो की दर से बेचा जाएगा। ज्यादा मूल्य वसूली की शिकायत पर कार्रवाई कराई जाएगी।

Share it
Share it
Share it
Top