मध्यप्रदेश में किसानों को अतिरिक्त सिंचाई सुविधा मुहैया: चौहान 

मध्यप्रदेश में किसानों को अतिरिक्त सिंचाई सुविधा मुहैया: चौहान शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्यप्रदेश

भोपाल (भाषा)। राज्य में कृषि विकास दर बढ़ाने के मकसद से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के 13 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में किसानों को अतिरिक्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा, सिंचाई के लिए किसानों को पांच हार्सपॉवर मोटर पंप पर 26,000 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है।

खरगोन जिले के ग्राम बिस्टान में 350 करोड़ रुपए लागत की उदवहन सिंचाई परियोजना का कल भूमि-पूजन करने के बाद चौहान ने कहा, ‘‘किसानों को पांच हार्सपॉवर मोटर पंप पर 26,000 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है। प्रदेश के 13 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में अतिरिक्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।''

उन्होंने कहा कि पिछले 11 वर्षो में मेरे शासनकाल में नर्मदा नदी के जरिये 5.50 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई गई। इसके साथ ही 2400 मेगावाट की बिजली का उत्पादन हुआ है। प्रदेश के 16 जिलों में पेयजल और उद्योग के लिये पानी नर्मदा नदी से दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खरगोन जिले के हर हिस्से में सिंचाई के लिए पानी सरकार उपलब्ध करवायेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य है कि खेती लाभ का व्यवसाय बने। किसानों की आय दोगुनी हो, इसके लिये सिंचाई सुविधाएं मिले।''

राज्य सरकार की जनहित की योजनाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक हर गरीब व्यक्ति के पास उसकी अपनी भूमि एवं अपना मकान होगा।

बिस्टान परियोजना से इंदिरा सागर सिंचाई परियोजना की नहरों से खण्डवा, खरगोन और बडवानी जिले के 1.23 लाख हेक्टेयर कमाण्ड क्षेत्र को सिंचाई सुविधा होगी। इससे ऊंचाई वाले क्षेत्र जहां नहर से सिंचाई संभव नहीं है, उन्हें सुविधा प्राप्त होगी। इस योजना से 22,000 हेक्टेयर रकबा सिंचित होगा।

इस प्रणाली की विशेषता यह है कि प्रत्येक ढाई हेक्टेयर तक के चक पर एक आउटलेट दिया जायेगा, जिससे कम से कम 20 मीटर ऊंचाई का प्रेशर मिलेगा, जिससे किसान स्प्रिंकलर अथवा ड्रिप पद्घति से सिंचाई कर सकेंगे।

परियोजना 30 माह की अवधि में पूरी की जायेगी। 92 गाँव की 60,000 से अधिक ग्रामीण आबादी को इसका लाभ मिलेगा।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top