Top

ऑनलाइन और मॉल्स में बिकेगा यूपी का गुड़, गुड़ महोत्सव 2020 की तैयारियां भी जारी

आप देश के किसी कोने में रहते हों और अगर यूपी का गुड़ मंगाना चाहते हैं तो ये सुविधा जल्द ई कॉमर्स साइटों अमेज़न और फ्लिपकार्ट आदि पर उपलब्ध होगी। इसके साथ ही गुड़ और उससे बने उत्पाद बड़े शहरों में भी बेचे जाएंगे।

Arvind ShuklaArvind Shukla   25 Jan 2020 9:15 AM GMT

ऑनलाइन और मॉल्स में बिकेगा यूपी का गुड़, गुड़ महोत्सव 2020 की तैयारियां भी जारी

लखनऊ। शहरों के बड़े मॉल्स में जल्द उत्तर प्रदेश का गुड़ बिकता नजर आ सकता है। किसानों की आमदनी बढ़ाने, किसानों को नई जानकारियां देने और लोगों को गुड़ के फायदे बताने के लिए उत्तर प्रदेश में आने वाले कुछ दिनों में राज्य गुड़ महोत्सव का आयोजन किया जाएगा।

आप देश के किसी कोने में रहते हों और अगर यूपी का गुड़ मंगाना चाहते हैं तो ये सुविधा जल्द ई कॉमर्स साइटों अमेज़न और फ्लिपकार्ट आदि पर उपलब्ध होगी। इसके साथ ही गुड़ और उससे बने उत्पाद बड़े शहरों में भी बेचे जाएंगे।गुड़ को प्रमोट करने के लिए यूपी सरकार फरवरी के आखिर में राज्य में गुड महोत्सव आयोजित करने के लिए तैयारियों में जुटी है।

प्रदेश के प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग संजय आर. भूसरेड्डी ने गुड़ बताया, "इस आयोजन का उद्देश्य गुड़ उत्पादकों को उत्तम गुणवत्ता के गुड़ तथा उसके सह-उत्पादों हेतु प्रेरित करना। गुड़ तकनीशियनों, गुड़ मशीनरी निर्माताओं एवं क्रेताओं के मध्य समन्यवय स्थापित करना। इसके साथ ही गुड़ के वैल्यू एडिड उत्पादों तथा गुड़ के कारोबार के सम्बन्ध में प्रशिक्षण एवं लघु एवं मध्यम उद्योग इकाई एमएसएमई के रूप में गुड़ उत्पादकों एवं इकाईयों को प्रोत्साहित करना है।"


उत्तर प्रदेश भारत की सबसे बड़ी गन्ना बेल्ट है। लखीमपुर से लेकर मुजफ्फरनगर तक 30 से जिलों में गन्ना प्रमुख फसल है। इसके साथ अयोध्या समेत कई दूसरे जिलों में भी गन्ने की अच्छी पैदावार होती है। उत्तर प्रदेश सरकार के वन डिस्ट्रिक वन प्रोडेक्ट (ओडीओपी) के तहत पहले से ही मुजफ्फरनगर और अयोध्या के लिए गुर प्रमुख उत्पादों में दर्ज है।

24 जनवरी को लखनऊ में हुइ राज्य गुड़ महोत्सव 2020 के सफल आयोजन के संबंध में परामर्शदात्री समिति भी हुई। अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर प्रकाशित ख़बर के मुताबिक प्रमुख सचिव चीनी उद्योग संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि राज्य़ सरकार गुड़ को न सिर्फ ऑनलाइन बल्कि बड़े शहरों के मॉल्स में भी बेचेगी। गुड़ सिर्फ पारंपरिक उत्पाद नहीं बल्कि इसके कई औषधीय गुण भी होते हैं, हम लोग गुड़ महोत्सव आदि के जरिए लोगों को इसके बारे में जागरुक करेंगे।"

गुड़ के औषधीय गुणों के बारे में हर्बल एक्सपर्ट डॉ. दीपक आचार्य कहते हैं, "गुड़ फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन की खान है। इसे खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। गुड़ की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसे कई के पारंपरिक व्यंजनों, सर्दियों में चिक्की आदि में खाया जाता है। गुड़ के सेवन से पाचन संबंधी समस्या भी ठीक होती है।"

पिछले कुछ वर्षों में भारत में गुड़ को लेकर लोगों को जागरुकता बढ़ी है। सरकारी कवायदों के अलावा कई किसान देश में गुड़ के कारोबार से मुनाफा कमा रहे हैं। कई किसान जैविक तरीके से गुड़ बनाकर भी बेच रहे हैं, जिन्हें सीजन में अच्छा मुनाफा होता है।

चंडीगढ़ में रहने वाले भूपेश सैनी पिछले तीन वर्षों गुड कैंडी बनाकर बेच रहे हैं। ये अपनी तरह का पहला काम था, जिसमें बिना गुड़ की प्रापर्टी में बदलाव किए सीधे टॉफी बनाकर बेचा जा रहा है।

ये भी पढ़ें- खेती से बिजनेस का उदाहरण: जापान में नौकरी छोड़ चंडीगढ़ के युवा ने गुड़ में वैल्यू एडिशन कर बना दी गुड़ कैंडी

ये भी देखें- सेना से रिटायर होने के बाद शुरू की जैविक खेती, कई देशों में भेजते हैं जैविक गुड़

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top