मध्य प्रदेश के इस किसान को जैविक खेती के लिये कर्नाटक के कृषि मंत्री ने किया पुरस्कृत

Mohit AsthanaMohit Asthana   22 Jan 2018 11:47 AM GMT

मध्य प्रदेश के इस किसान को जैविक खेती के लिये कर्नाटक के कृषि मंत्री ने किया पुरस्कृतपुरस्कार लेते लक्ष्मणदास सुखरामानी

इन्टरनेशनल कम्पीटेंस सेंटर आॅफ ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर (ICCOA) बेंगलुरु द्वारा जैविक इंडिया अवार्ड का आयोजन 20 जनवरी 2018 को किया गया। इस आयोजन में मध्य प्रदेश के लक्ष्मणदास सुखरामानी को नाॅमिनेट किया गया। लक्ष्मणदास मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के जनवार के रहने वाले हैं।

ये संस्था जैविक कृषि के क्षेत्र में उन किसानों का चयन राष्ट्रीय स्तर पर करती है जो जैविक खेती जैव विविधता के साथ समन्वय पद्धति से करते हैं। उन्हें जैविक इंडिया अवार्ड से सम्मानित किया जाता है। लक्ष्मणदास एकीकृत प्रणाली से जैविक खेती के माध्यम से आम, अमरूद, नींबू, मौसमी, करौंदा व विभिन्न सब्ज़ियों के साथ मटर, मूँग, गेंहू की खेती करते हैं

ये भी पढ़ें- जैविक खेती का पंजीकरण कराएं तभी मिलेगा उपज का सही दाम

साथ ही हानिकारक कीट पतंगों की रोकथाम के लिए लाइट टैप टाइमर का प्रयोग करते हैं। 20 जनवरी 2018 को कर्नाटक के कृषि मंत्री कृष्ण बायरा गौडा ने लक्ष्मणदास सुखरामानी को जैविक खेती उन्नत तकनीक से समन्वय पद्धति से करने के लिए प्रथम पुरस्कार शील्ड व 50000 रुपए की चेक प्रदान किया।

लक्ष्मणदास ने गांव कनेक्शन से बातचीत में बताया कि इन्टरनेशनल कम्पीटेंस सेंटर ऑफ ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर के अधिकारीयों ने मध्य प्रदेश स्टेट ऑग्रेनिक सर्टिफिकेशन एजेंसी (MPSOCA) के सहयोग से हमारी जैविक खेती को देखा उसके बाद उन्होंने मेरा नाम दिया।

ये भी पढ़ें- बिना जुताई के जैविक खेती करता है ये किसान, हर साल 50 - 60 लाख रुपये का होता है मुनाफा, देखिए वीडियो

ये है एमपीसोका

मध्य प्रदेश स्टेट ऑर्गेनिक सर्टिफिकेशन एजेंसी। इसका काम ऑर्गेनिक खेती को सर्टिफाइड करने का काम करती है। ये भारत सरकार की संस्था होती है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top