बलात्कार के बढ़ते मामलों पर रवीना टंडन का देश के नाम एक खुला खत 

Anusha MishraAnusha Mishra   20 April 2017 12:28 PM GMT

बलात्कार के बढ़ते मामलों पर रवीना टंडन का देश के नाम एक खुला खत रवीना टंडन

मुम्बई। बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन ने देश के युवाओं और उनके माता-पिता के लिए एक खुला खत लिखा है। इस खुले खत में उन्होंने बलात्कारों के बढ़ते मामले को लेकर चिंता जताई और कहा है कि हमें इससे लड़ने की जरूरत है।

मुंबई मिरर के मुताबिक, रवीना ने खत में लिखा –

भारत में अपराध के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। एक मां के तौर पर यह मुझे बहुत डराता है। कभी-कभी हम अखबारों में छपी भयानक दुर्घटनाओं के बारे में पढ़ते हैं या टीवी पर ऐसे कृत्यों की चर्चा की जा रही होती है, ऐसे में मेरा सबसे बड़ा डर एक मां के रूप में होता है।

हमारे देश में हर साल 34000 से भी ज्यादा बलात्कार के मामले दर्ज होते हैं जो उन मामलों का कुछ प्रतिशत ही है, जो वाकई में घटित होते हैँ। इसीलिए मैं हमेशा अपनी सुरक्षा के लिए तत्पर रहती हूं। जब मैं ऐसी घटनाओं के बारे में सुनती या पढ़ती हूं तो उन बच्चों और उनके माता-पिता की स्थिति के बारे में सोचकर मेरा खून खौल उठता है।

प्यारें युवाओं, मैं तुमसे कहना चाहती हूं कि रुक जाओ। महिलाओं पर पाबंदियां लगाना बंद करो। उनको किसी वस्तु की तरह देखना बंद करो। यह सोचना बंद कर दो कि तुम्हारे आस-पास की हर महिला पर तुम्हारा हक है।

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्यारी लड़कियों – मेरा दिल आपके लिए बहुत दुखी होता है। जब समाज आपकी सुरक्षा करने में चूक जाता है, अब आपके लिए यह समझना जरूरी है कि सब कुछ आपके हाथ में है। यही वह समय है जब आपको ऐसे पुरुषों से लड़ना होगा, उनके खिलाफ आवाज उठानी होगी जो आप पर आश्लील टिप्पणियां करते हैं, आपको आपत्तिजनक तरीके से छूने की कोशिश करते हैं।

और अंत में मैं अभिभावकों से कहना चाहूंगी – निसंदेह यह सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप अपनी बच्चियों को आत्मरक्षा के गुण सिखाएं लेकिन यह भी जरूरी है कि आप अपने बेटों को सिखाएं कि उन्हें लड़कियों का सम्मान करना है और ऐसे किसी भी काम की पहल नहीं करनी है जिससे लड़कियों की सुरक्षा को खतरा हो। जिस दिन ऐसा हो जाएगा उस दिन सही मायनों में महिलाओं के लिए हमारे देश में रहना सुरक्षित हो जाएगा।

महिलाओं के लिए भारत तभी स्वर्ग बन सकता है जब सभी लोग मिलकर इस दिशा में प्रयास करें। मेरी पुरुषों महिलाओं और सभी से विनती है कि वो महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ मिलकर लड़ें और उनके लिए सुरक्षित समाज की स्थापना करें। आप किसी ऐसे दिन का इंतजार नहीं कर सकते जब आपके आस-पास ऐसी घटना होगी। इसलिए अभी से प्रयास शुरू कर दें।

हस्ताक्षर,

एक चिंतित मां।

बता दें कि बलात्कार जैसे मुद्दे पर बनी रवीना टंडन की फिल्म मातृ कल यानि शुक्रवार को रिलीज हो रही है। रवीना टंडन इस फिल्म से दो साल बाद बड़े पर्दे पर नजर आएंगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top