Read latest updates about "मनोरंजन" - Page 1

  • जन्मदिन विशेष: एक शायर जिसे ख़ून थूकने का शौक था 

    क्या तकल्लुफ करें ये कहने में, जो भी खुश है हम उस से जलते हैं- जॉन एलियाहिंदुस्तान के अमरोहा में पैदा हुए और पाकिस्तान के कराची की मिट्टी में दफ्न हुए जॉन एलिया वो शायर हैं जो हयात रहते हुए ही उर्दू अदब की दुनिया में अच्छी खासी मकबूलियत हासिल कर गए थे। जॉन एलिया का जन्म उत्तर प्रदेश के अमरोहा...

  • क़िस्सा मुख़्तसर : जॉन एलिया ने बताए अपने ख़ास दोस्त के क़िस्से

    उबैदुल्लाह अलीम का नाम शायरी के चंद उन उस्तादों में शुमार होता है जिन्होंने उर्दू शायरी की नफ़्स में कई इंकलाबी तब्दीलियां की। शेर कहने का नया अंदाज़ रखने वाले उबैदुल्लाह अलीम की पैदाइश साल 1939 में भोपाल में हुई थी। तक्सीम के बाद पाकिस्तान के सियालकोट आने के बाद उन्होंने कराची यूनिवर्सिटी से उर्दू...

  • स्मिता कहा करती थीं कि जब मैं मर जाऊंगी तो मुझे सुहागन की तरह तैयार करना

    स्मिता पाटिल शायद अकेली एक्ट्रैस थी जिन्हें कॉमर्शियल फिल्में कुछ खास पसंद नहीं थीनसीरुद्दीन शाह, एक इंटरव्यूहिंदी समानांतर सिनेमा में अलग पहचान बनाने वाली स्मिता पाटिल का फ़िल्मी सफ़र यूं तो सिर्फ 10 साल का था लेकिन अदाकारी इतनी कमाल थी कि उनकी फ़िल्में आज भी...

  • कबाड़ से कलाकारी: सूखी तोरई से बनाइये चमचमाते झूमर या लैंप

    सब्ज़ी बनाने के अलावा तोरई से हम एक खूबसूरत लैंप या झूमर बना सकते हैं. कैसे? बता रहे हैं गुरप्रीत सिंह इन तस्वीरों और वीडियो में..सूखी, पीली पड़ चुकी कुछ तोरियों को इकठ्ठा कर लें इस तरह से तोरई के छिलके उतार लें अब उसके स्लाइसेस काट लें और एक जगह इकठ्ठा कर...

Share it
Top