जलीकट्टू के समर्थन में आगे आए रजनीकांत कहा, इसे जरूर खेलना चाहिए, यह तमिल संस्कृति का हिस्सा है

जलीकट्टू के समर्थन में आगे आए रजनीकांत कहा, इसे जरूर खेलना चाहिए, यह तमिल संस्कृति का हिस्सा हैपोंगल के अवसर पर मदुरै के कैरीसालकुलम गाँव में लोकप्रिय प्राचीन खेल जलीकट्टू पर कोर्ट से रोक के बावजूद सांड को पकड़ते युवकों का दल।

चेन्नई (आईएएनएस)| सुपरस्टार रजनीकांत ने सांड़ को काबू में करने वाले लोकप्रिय प्राचीन खेल जलीकट्टू का समर्थन किया है। यह खेल पोंगल के आसपास खेला जाता है। रजनीकांत ने इसका समर्थन करते हुए कहा कि इसे जरूर खेला जाना चाहिए क्योंकि यह तमिल संस्कृति का हिस्सा है।

पिछले साल उच्चतम न्यायालय ने जलीकट्टू पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसके चलते इस खेल के समर्थक नाराज हैं। उन्होंने विकटन फिल्म पुरस्कार के दौरान संवाददाताओं से कहा, "चाहे जो भी नियम बनाए जाए, लेकिन जलीकट्टू जरूर आयोजित किया जाना चाहिए क्योंकि यह तमिल संस्कृति का हिस्सा है।"

इस पुरस्कार समारोह में फिल्म 'कबाली' में डॉन की भूमिका निभाने वाले रजनीकांत सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से नवाजे गए। रजनीकांत (65 वर्ष) फिलहाल तमिल फिल्म '2.0' की शूटिंग में व्यस्त हैं।

Share it
Top