किसी पुरस्कार पर नहीं टिका मेरा कॅरियर : मनोज वाजपेयी 

किसी पुरस्कार पर नहीं टिका मेरा कॅरियर : मनोज वाजपेयी अभिनेता मनोज वाजपेयी।

मुंबई (भाषा)। फिल्म ‘अलीगढ़' में अपने बेहतरीन अभिनय से प्रशंसा बटोरने वाले मनोज वाजपेयी (48 वर्ष) को इस साल के राष्ट्रीय पुरस्कार के मुख्य दावेदार के तौर पर पेश किया जा रहा था लेकिन अभिनेता का कहना है कि अक्षय कुमार से पिछड़ने का उन्हें कोई मलाल नहीं है।

अभिनेता मनोज वाजपेयी ने इस बात पर जोर दिया कि उनके अंदर सम्मान हासिल करने की कोई लालसा नहीं है। हंसल मेहता निर्देशित फिल्म ‘अलीगढ़' में एक समलैंगिक प्रोफेसर की भूमिका निभाने के लिए वाजपेयी ने काफी प्रशंसा बटोरी थी।

इस साल सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार ‘रुस्तम' के लिए अक्षय कुमार को दिया गया था। वाजपेयी ने ‘सत्या' में सहायक भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार और ‘पिंजर' के लिए विशेष जूरी का राष्ट्रीय पुरस्कार जीता था।

वाजपेयी ने बताया, ‘‘जिंदगी में निराशा से आगे निकलना मेरे लिए हमेशा से आसान रहा है, मैं इससे अभ्यस्त हो गया हूं। मैंने अपनी जिंदगी और कॅरियर को इस देश में किसी पुरस्कार पर नहीं टिका रखा है, पुरस्कार आपको किसी व्यक्ति या एक अभिनेता के तौर पर नहीं आंक सकते।''

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों से जो समर्थन मुझे मिला वह बहुत जबरदस्त था और मैं सभी विजेताओं को बधाई देना चाहता हूं। उन्हें जीत का जश्न मनाने दें। भविष्य में मुझे मेरा मौका जरुर मिलेगा।'' वाजपेयी की हालिया फिल्म ‘सरकार 3' है जिसमें उन्होंने करीब 14 साल बाद निर्देशक राम गोपाल वर्मा के साथ काम किया।

Share it
Top