मां को कभी प्रतिद्वंद्वी नहीं मान सकतीं : कोंकणा सेन 

मां  को कभी प्रतिद्वंद्वी नहीं मान सकतीं : कोंकणा सेन अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा ।

नई दिल्ली (भाषा)। फिल्म ‘ए डेथ इन द गंज' से अपनी निर्देशकीय पारी की शुरुआत कर रहीं अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा का कहना है कि अपनी मां तथा जानी-मानी फिल्मकार अपर्णा सेन से तुलना उन्हें विचलित नहीं करती क्योंकि अपनी मां को वह कभी प्रतिद्वंद्वी नहीं मान सकतीं।

अभिनेत्री ने कहा, ‘‘जब मैंने अभिनय शुरू किया था तब भी पत्रकार खुद ऐसी तुलनाओं के साथ आया करते थे लेकिन जैसा लोग सोचते हैं हम भी वैसा नहीं सोच सकते। मैं उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वी के तौर पर नहीं सोच सकती।''

कोंकणा ने कहा, ‘‘वह पथ प्रदर्शक हैं और उनके पदचिह्नों पर चलकर मैं वाकई खुश हूं। मुझे खुशी है कि वह इसकी अगुआ रहीं। लोग आपको कैसे देखते हैं आप उसे नियंत्रित नहीं कर सकते। यह पूरी तरह वाजिब है।''

अभिनेत्री (37 वर्ष) ने कहा, ‘‘स्वभाव से मैं प्रतिस्पर्धी या महत्वकांक्षी नहीं हूं। बजाय इसके मैंने खुद के लिए ऊंचा पैमाना बना रखा है जहां तक अक्सर मैं नहीं पहुंच पाती और यही मेरी अपनी त्रासदी है।''

कोंकणा की यह फिल्म वर्ष 1970 के दशक के बंगाली उच्च मध्यवर्ग के लोगों के बारे में है जो पारिवारिक छुट्टी पर मैकक्लुस्कीगंज से कलकत्ता आते हैं। कोंकणा का कहना है कि वर्ष 1979 उन्हें बेहद ‘‘रुमानी'' लगता है।

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरे लिए जादू सरीखा है, मुझे वर्ष 1970 का दशक बहुत पसंद है, मुझे उस वक्त की संवेदनशीलता पसंद है और मुझे लगता है कि वर्ष 1980 आते आते सबकुछ बदल सा जाता है। ‘ए डेथ इन द गंज' कुछ इसी तरह की फिल्म है, यह एक निश्चित वक्त के जैसा है जो आज कहीं नजर नहीं आता।''

फिल्म में विक्रांत मेस्सी, कल्कि कोचलिन, रणवीर शौरे, तनुजा, जिम सर्भ और दिवंगत अभिनेता ओम पुरी हैं. यह फिल्म दो जून को रिलीज होगी।

Share it
Top