तारक मेहता के लेखन में भारत की अनेकता में एकता की झलक : प्रधानमंत्री मोदी

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   1 March 2017 3:51 PM GMT

तारक मेहता के लेखन में भारत की अनेकता में एकता की झलक : प्रधानमंत्री मोदीप्रसिद्ध भारतीय लेखक और नाटककार तारक मेहता व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। प्रसिद्ध भारतीय लेखक और नाटककार तारक मेहता का लंबी बीमारी के बाद बुधवार सुबह निधन हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि तारक मेहता के लेखन में भारत की अनेकता में एकता की झलक दिखती है। तारक मेहता का 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके परिवार ने इसकी पुष्टि की। परिवार ने उनका शव दान करने की इच्छा जताई। तारक मेहता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तारक मेहता के निधन पर गहरा दुख प्रकट करते हुए ट्विटर पर लिखा, "सुप्रसिद्ध नाटककार और हास्य लेखक तारक मेहता को श्रद्धांजलि। उन्होंने जीवनभर व्यंग्य और कलम का साथ नहीं छोड़ा।"

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

26 दिसंबर, 1929 को जन्मे मेहता को वर्ष 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

मोदी ने तारक मेहता संग अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए लिखा, "मुझे मेहता से कई बार मिलने का मौका मिला। जब उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया, तब भी उनसे मिलने का अवसर मिला। उनके लेखन में भारत की अनेकता में एकता की झलक दिखती है।"

तारक मेहता को हास्य धारावाहिक 'दुनिया ने ऊंधा चश्मा' के लिए जाना जाता है और इसी से प्रेरित हिन्दी धारावाहिक 'तारक मेहता का उलटा चश्मा' आज भी दर्शकों को गुदगुदाता है। उन्होंने छह लोकप्रिय गुजराती नाटक भी लिखे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top