बॉलीवुड पेश कर रहा ‘नए पैकेट में पुरानी चीज़’

बॉलीवुड पेश कर रहा ‘नए पैकेट में पुरानी चीज़’फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया में भी ‘तम्मा तम्मा’ फिल्म ‘थानेदार’ से लिया गया है।

लखनऊ। कहा जाता है ओल्ड इस गोल्ड और इस पर सबसे ज्यादा अमल कर रहा है हमारा बॉलीवुड। बीते कुछ समय की बात करें तो यहां एक नया ट्रेंड देखने में आया है वो है पुराने सुपरहिट गानों का दोहराया जाना।

अगर हम पिछले कुछ महीनों में रिलीज हुई हिंदी फिल्मों की लिस्ट देखें तो बहुत सारी फिल्में ऐसी आईं जिनमें गुजरे जमाने के सुपरहिट गीतों को नया रूप दिया गया। हाल ही में आई शाहरुख की रईस में सनी लियोन पर फिल्माया गाना 'लैला मैं लैला' देखने को मिला। वैसे से ये गाना 1980 में आई फिल्म 'कुर्बानी' का है जिसे जीनत अमान पर फिल्माया गया था। 'रईस' में इस गाने की धुन में थोड़ा-बहुत बदलाव कर इसे दोबारा दर्शकों के आगे रखा गया।

साभार: इंटरनेट

शाहरुख की ही एक और मूवी डियर जिंदगी में कमल हासन की मशहूर मूवी सदमा का ‘ऐ जिंदगी गले लगा ले’ को नए अंदाज में पेश किया गया। 1983 की सदमा में इस गीत को सुरेश वाडेकर ने अपनी आवाज दी थी।

ऋतिक की काबिल भी पुरानी शराब को नई बोतल में पेश करने में पीछे नहीं रही। 1981 की सुपरहिट फिल्म याराना के गीत 'ये सारा जमाना हसीनों का दीवाना' पर 'काबिल' में उर्वशी रौतेला थिरकती नजर आईं, जबकि पुराने गाने पर अमिताभ बच्चन थे।

फिल्म 'ओके जानू' में 1995 की फिल्म 'बॉम्बे' का ब्लॉकबस्टर गाना 'हम्मा हम्मा' का नया रूप देखने को मिला। सोनाक्षी सिन्हा की फोर्स 2 में उन्होंने मिस्टर इंडिया में श्रीदेवी के मशहूर गीत ‘काटे नहीं कटते’ का रिमेक पेश तो किया, लेकिन इसकी कोई खास चर्चा नहीं हुई।

साभार: इंटरनेट

पुराने गानों को नया करने का ये फैशन यहीं नहीं रूकता। फिल्म 'बद्रीनाथ की दुल्हनिया' का गाना 'तम्मा तम्मा' फिल्म 'थानेदार' से लिया गया है। नई धुन में इस गाने पर वरुण-आलिया थिरक रहे हैं, जबकि पुराना गाना माधुरी दीक्षित और संजय दत्त पर फिल्माया गया था।

इसी फिल्म में राज कपूर की मशहूर फिल्म ‘तीसरी कसम’ का पॉपुलर गीत ‘पिंजड़े वाली मुनिया’ का रिमिक्स वर्जन भी है, जबकि अब्बास-मस्तान की आने वाली फिल्म मशीन में दिखेगा अक्षय-रवीना की 1994 की फिल्म मोहरा का सुपरहिट गीत ‘तू चीज बड़ी है मस्त’।

ज्यादातर फिल्मों में जो गाने रिमेक किए जा रहे हैं, वो अस्सी या नब्बे के दशक के सुपरहिट गाने रहे हैं। इस ट्रेंड का अचानक तेज होने की पीछे की बड़ी वजह के एकाएक जोर पकड़ने के पीछे सबसे बड़ी वजह है यह भी हो सकती है कि फिल्मकार अपनी फिल्मों को शुरुआत से ही चर्चा में लाना चाहते हैं। खुद कई संगीतकार, गीतकार और गायक पुराने गानों को नई धुन में पेश करने के खिलाफ हैं।

हाल ही में मशहूर गायक अभिजीत सिंह ने एक साक्षात्कार में कहा था कि जिस तरह पुराने गानों का नया वर्जन पेश किया जा रहा है उससे साफ़ है अब लोगों में सदाबहार गाने की रचना करने की काबिलियत ही नहीं रही। आजकल के गाने कल भुला दिए जाते हैं।


Share it
Top