महाड़ पुल ध्वस्त: तीन शव बरामद, तलाशी और बचाव अभियान जारी

महाड़ पुल ध्वस्त: तीन शव बरामद, तलाशी और बचाव अभियान जारीgaonconnection

महाराष्ट्र (भाषा)। रायगढ़ जिले में अंग्रजों के जमाने के एक पुल के ध्वस्त हो जाने के कारण सावित्री नदी में बह गई दो बसों और कुछ अन्य वाहनों से आज तीन शव बरामद किये गये हैं। साथ ही लापता वाहनों का पता लगाने के लिए बचाव कार्यकर्ताओं ने 300 किलोग्राम का चुंबक नदी में डाला है।

मुंबई से करीब 170 किलोमीटर दूर रायगढ़ जिले में महाड़ के नजदीक मुंबई-गोवा राजमार्ग पर मंगलवार को एक पुराने पुल के ध्वस्त हो जाने के बाद लापता लोगों का पता लगाने के अभियान में नौसेना और तटरक्षक के जवान लगे हुये हैं। बह गई दो बसों में करीब 22 लोग सवार बताए गए हैं।

रायगढ़ जिला के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय पाटिल ने बताया, ‘‘तीन शव बरामद कर लिये गये हैं। एक शव एक पुरुष का है जिसके बारे में माना जा रहा है कि वह दोनों बसों में से एक बस का चालक है। दूसरा शव एक महिला का है।'' उन्होंने बताया कि तीसरा शव भी बरामद किया गया है लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि वह पुल गिरने के कारण हुए हादसे का शिकार है या नही।

उन्होंने बताया कि शवों को दुर्घटनास्थल से करीब 50-60 किलोमीटर दूर नदी से निकाला गया है। इससे पहले ख़बर आयी थी कि सघन तलाशी के दौरान कल दो शव बरामद किए गये। हालांकि बाद में जिला पुलिस ने स्पष्ट किया कि कल रात तक कोई शव बरामद नहीं किया गया। एक स्थानीय अधिकारी ने बताया कि चुंबक में कुछ फंसा है जिसे नदी से बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top