पैसे के लिए भाई ने भाई को ही कर लिया अगवा

पैसे के लिए भाई ने भाई को ही कर लिया अगवागाँव कनेक्शन

बाराबंकी। ज़िले में हाईस्कूल में पढ़ने वाले छात्र ने दोस्तों के साथ मिलकर अपने ही पांच वर्ष के भाई के अपहरण की साजिश रच डाली। यही नहीं उसने परिवार वालों से दस लाख रुपए की फिरौती की भी मांग की। मामले की जानकारी पर पुलिस ने आरोपी भाई और उसके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया।

मामला हैदरगढ़ स्थित कोतवाली के लिल्हौरा गाँव का है। यहां रहने वाले 17 वर्षीय हाईस्कूल के छात्र दिवाकर सिंह ने पैसे के लालच में कुछ साथियों की मदद से अपने ही पांच साल के सगे भाई सचिन का अपहरण कर डाला। दिवाकर की योजना थी कि अपहरण करने के बाद फिरौती में जो रुपया मिलेगा, उसे आपस में बराबर बांट लिया जाएगा। सब कुछ प्लान के ही मुताबिक चल रहा था और फिर फोन कर बच्चे को सकुशल छोडऩे के बदले दस लाख रुपये की मांग भी की गयी थी।

योजना के चलते अपहरणकर्ताओं को पुलिस टीम ने उस समय गिरफ्तार किया जब अपहरणकर्ता फिरौती के मांगे रुपये लेने तय की गयी जगह पर पहुंचे थे। पुलिस टीम ने हैदरगढ़ कोतवाली अंतर्गत मोहल्ला ब्रहमानान में स्थित राम शंकर पाठक की बाग से अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर अगवा बालक सचिन को सकुशल बरामद कर लिया।

पुलिस टीम इस सराहनीय कार्य और बच्चे की सकुशल बरामदगी पर डीआईजी फैजाबाद ने पुलिस टीम को उत्साहवर्धन करते हुए दस हजार रुपये और एसपी बाराबंकी ने पांच हजार रुपये पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया है।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अब्दुल हमीद ने बताया, ‘‘पुलिस की चुनौती थी बच्चे को बचाना, इसके लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गई थीं। साथ ही सर्विलांस में नंबर लगाकर आरोपियों पता चलता रहा।’’

रिपोर्ट-सतीश कश्यप

Tags:    India 
Share it
Top