प्रमाण पत्र न दिखाया तो ट्रेन में छिन जाएगी सीट

प्रमाण पत्र न दिखाया तो ट्रेन में छिन जाएगी सीटगाँव कनेक्शन

लखनऊ। अगर आप वरिष्ठ नागरिक हैं तो आपको यात्रा के दौरान अपनी उम्र सम्बंधित प्रमाण पत्र साथ लेकर चलना होगा, नहीं तो कहीं भी आपकी सीट आपसे छिन जाएगी। 

वरिष्ठ नागरिकों को ट्रेन में सफर के दौरान उम्र से संबंधित प्रमाण पत्र चेकिंग स्टाफ को दिखाना होगा। प्रमाण पत्र न दिखाने पर यात्री से वरिष्ठ नागरिक की सीट छीन ली जाएगी। सीट जरूरतमंद वरिष्ठ नागरिक यात्री को दे दी जाएगी। अगर कोई यात्री वास्तव में सीनियर सिटीजन है और उसके पास प्रमाण पत्र नहीं तो उससे पूरा किराया वसूला जाएगा। सीट की सुविधा बरकरार रहेगी। रेल मंत्रालय एक फरवरी से इस नियम को लागू करने जा रहा है।

वरिष्ठ नागरिकों को रेलवे की तरफ से रियायती दर पर किराये में छूट के साथ ही सीटों का कोटा भी निर्धारित किया गया है। इसके लिए पुरुषों की उम्र कम से कम 60 और महिलाओं की 58 वर्ष निर्धारित की गई है। पुरुषों को 40 और महिलाओं को 50 प्रतिशत की छूट किराए में दी जाती है। यह सुविधा सभी मेल/एक्सप्रेस/राजधानी/शताब्दी में है। खास बात यह है कि जब यात्री वरिष्ठ नागरिक का टिकट लेने जाता है तो उससे उम्र का प्रमाणपत्र देने की जरूरत नहीं पड़ती है। उसने फार्म पर जो उम्र लिख दी उसी के आधार पर वरिष्ठ नागरिक का लाभ देते हुए आरक्षण कर्मी उसको नीचे की कंफर्म बर्थ दे देते हैं।

काउंटर पर प्रमाण पत्र दिखाने का कोई नियम रेलवे ने नहीं बनाया है। सफर के दौरान भी चेकिंग स्टाफ इस ओर ध्यान नहीं देता है। लोग अपनी उम्र छिपाकर झूठ बोलकर वरिष्ठ नागरिक का लाभ ले रहे हैं। क्योंकि कहीं चेकिंग होती नहीं है, इसलिए लोग आराम से निकल जाते हैं। इस मामले में सबसे ज्यादा टिकट बिचौलिए रेलवे को चूना लगा रहे हैं। 

अब उसी यात्री को वरिष्ठ नागरिक की सीट और किराये में छूट मिल पाएगी जो वास्तव में उसके योग्य होगा। सफर के दौरान वरिष्ठ नागरिक का प्रमाण पत्र दिखाएगा।

वरिष्ठ नागरिकों की सुविधा का लाभ लेकर सफर कर रहे यात्रियों को सरकार द्वारा अधिकृत परिचय पत्र जैसे वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पैनकार्ड या बैंक पासबुक आदि मान्य होगी। प्रधान, सभासद, चेयरमैन, पार्षद आदि द्वारा जारी किया गया आयु प्रमाण पत्र मान्य नहीं होगा।

Tags:    India 
Share it
Top