पत्नी नहीं लौटी मायके से तो पति ने तोड़ दी बजरंग बली मूर्ति, गिरफ्तार

पत्नी नहीं लौटी मायके से तो पति ने तोड़ दी बजरंग बली मूर्ति, गिरफ्तारgaonconnection

इंदौर (भाषा)। प्राचीन मंदिर में बजरंग बली की मूर्ति तोड़े जाने के बाद पालदा क्षेत्र में फैले तनाव के बीच पुलिस ने आज 37 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि मानसिक रुप से परेशान इस व्यक्ति ने कथित तौर पर इसलिये गुस्से में मूर्ति तोड़ दी, क्योंकि बजरंग बली से प्रार्थना किये जाने के बावजूद उसकी बीवी मायके से नहीं लौटी।

शहर पुलिस अधीक्षक शशिकांत कनकने ने बताया कि पालदा क्षेत्र के प्राचीन खेड़ापति हनुमान मंदिर में बजरंग बली की मूर्ति तोड़ने के आरोप में मनोज बंजारा (37 वर्ष) को गिरफ्तार किया गया है।

कनकने ने कहा, ‘‘बंजारा मानसिक रुप से थोड़ा परेशान है। उसकी पत्नी किसी बात पर उससे रुठकर करीब चार महीने पहले मायके चली गयी थी। बंजारा का कहना है कि जब तमाम प्रयासों के बाद भी वह अपनी पत्नी को घर लौटने के लिये मना नहीं सका, तो वह बजरंग बली की शरण में गया। उसने बजरंग बली से प्रार्थना की कि वह कोई चमत्कार दिखाकर उसकी पत्नी को मायके से घर भिजवा दें।''

कनकने ने कहा, ‘‘बंजारा के मुताबिक जब इस प्रार्थना के बावजूद उसकी पत्नी घर नहीं लौटी, तो उसने गुस्से में आकर कल रात बजरंग बली की मूर्ति तोड़ दी। मामले में विस्तृत जांच की जा रही है।'' बहरहाल, इस मामले में पुलिस का दावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गले नहीं उतर रहा है। संघ के धर्म जागरण विभाग की एक स्थानीय इकाई के संयोजक विनोद मिश्रा ने कहा, ‘‘हमें संदेह है कि पुलिस ने इस मामले में अपनी खाल बचाने के लिये कहानी गढ़कर बंजारा को गिरफ्तार किया है। हमारी मांग है कि इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की जाये।''

प्राचीन मंदिर में बजरंग बली की मूर्ति तोड़े जाने के बाद पालदा क्षेत्र में आज सुबह तनाव की स्थिति बन गयी और इसके मद्देनजर वहां एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया। इस घटना से आक्रोशित कई श्रद्धालु हिंदू संगठनों के नेताओं के साथ मंदिर पहुंचे और चेतावनी दी कि बजरंग बली की मूर्ति तोड़े जाने के मामले का अगर जल्द खुलासा नहीं किया गया, तो वे पुलिस के खिलाफ आंदोलन करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top