राज्यपाल नाइक ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर चिंता जताई

राज्यपाल नाइक ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर चिंता जताईgaonconnection

कानपुर (भाषा)। मथुरा के जवाहर बाग कांड को अप्रत्याशित बताते हुये उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक ने आज प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर फिर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि मथुरा में दो पुलिस अफसरों और 25 अन्य लोगों का मारा जाना कानून व्यवस्था को लेकर चिंता का विषय है। इसे लेकर हमने सरकार से अपनी चिंता जाहिर की है ताकि उत्तर प्रदेश की जनता को सुरक्षित रहने का अधिकार मिल सके।

राज्यपाल नाइक आज कानपुर के बाल भवन में ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में भाग लेने आये थे। उन्होंने इस समर कैंप में भाग लेने वाले बच्चों की तारीफ की और उन्हें पुरस्कार भी दिये।

बाद में पत्रकारों से बातचीत में राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था पर मैं बोलता रहता हूं, मथुरा कांड में जो हुआ वह अप्रत्याशित था। दो पुलिस अधिकारियों और 25 अन्य लोगों की मौत कानून व्यवस्था की दृष्टि से गंभीर बात है। जब अदालत ने मथुरा में अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया था तो समय पर न हटाने का परिणाम हमने देखा। अगर अदालत की बात पर समय से अमल कर लिया जाता तो शायद इस तरह की नौबत ही न आती। इस पर मैने मुख्यमंत्री से कहा कि वह खुद जायें और मुझे अपनी रिपोर्ट दें। उन्होंने मुझे रिपोर्ट दी जिस पर मैने उनसे चर्चा की।

उन्होंने कहा कि यह बात सामने आई कि सरकारी जमीनों पर कब्जा हो रहा है। मथुरा जैसी घटना फिर न दोहराई जायें इसके लिए मैने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर कहा है कि जहां-जहां नगर निगम और नगर पालिका की जमीन है, इसकी जांच करायें और इस पर एक श्वेत पत्र लायें जिससे पता चले कि कहां-कहां सरकारी जमीनों पर कब्जा हुआ है। इससे इस मामले की गंभीरता सामने आएगी।

राज्यपाल ने कहा कि मीडिया ने मेरा कल का बयान देखा होगा जिसमें मैने मथुरा कांड, कैराना कांड, दादरी कांड और लखनऊ में लूट कांड का उल्लेख किया है। यह प्रदेश की कानून व्यवस्था का सवाल है इस पर सब गंभीर हो जायें जिससे जनता को सुरक्षित रहने का अधिकार मिल सके।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top