मजदूरों के लिए भी है पेंशन योजना, ऐसे पाएं लाभ

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए सरकार की तरफ से एक पेंशन योजना है, जिसे 'प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना' का नाम दिया गया है।

मजदूरों के लिए भी है पेंशन योजना, ऐसे पाएं लाभ

अगर आप रिक्शा चालक या दिहाड़ी मजदूर हैं या किसी छोटी फैक्ट्री में काम करते हैं, तो सरकार ने आपके लिए एक पेंशन योजना बनाई है। इस योजना के तहत मजदूरों को हर महीने एक छोटी सी राशि प्रीमियम के रुप में देनी होगी और 60 साल के उम्र के बाद मजदूरों को हर महीने 3000 रुपये की पेंशन मिलेगी। सरकार ने अपनी इस योजना का नाम 'प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना' दिया है।

भारत के श्रम और रोजगार मंत्रालय की इस योजना के तहत देश भर के असंगठित क्षेत्र के 42 करोड़ मजदूरों को फायदा हो सकता है। यह योजना उन मजदूरों को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा देने के लिए है, जिनके महीने की कमाई 15000 रूपये या उससे कम है।

इस योजना से 18 से 40 साल के उम्र वाले मजदूरों, स्ट्रीट वेंडरों, सिर पर बोझा ढोने वाले श्रमिकों, ईंट-भट्टा मजदूरों, चर्मकारों, कचरा उठाने वाले मजदूरों, घरेलू कामगारों, धोबी, रिक्शा चालकों, भूमिहीन मजदूरों, खेतिहर मजदूरों, निर्माण मजदूरों, बीड़ी मजदूरों, हथकरघा मजदूरों, चमड़ा मजदूरों और इसी तरह के अन्य व्यवसाय कर रहे मजदूरों को फयदा होगा।


हर महीने कितना जमा करना होगा प्रीमियम?

यह पेंशन योजना 18 से 40 साल के मजदूरों के लिए है। 18 साल के मजदूर को 55 रूपये प्रतिमाह और 40 साल के मजदूर को 200 रूपये प्रतिमाह देना होगा

18 साल के मजदूर को प्रतिमाह 55 रूपये प्रीमियम देना होगा।

20 साल के मजदूर को प्रतिमाह 61 रूपये प्रीमियम देना होगा।

25 साल के मजदूर को प्रतिमाह 80 रूपये प्रीमियम देना होगा।

29 साल के मजदूर को प्रतिमाह 100 रूपये प्रीमियम देना होगा।

30 साल के मजदूर को प्रतिमाह 105 रूपये प्रीमियम देना होगा।

35 साल के मजदूर को प्रतिमाह 150 रूपये प्रीमियम देना होगा।

40 साल के मजदूर को प्रतिमाह 200 रूपये प्रीमियम देना होगा।

प्रीमियम की पूरी जानकारी के लिए इस चार्ट को देखें-


कहां और कैसे करना होगा नामांकन

हर जिले में सामुदायिक सेवा केंद्र (सीएससी) होते हैं, वहां पर मजदूरों को अपना नामांकन कराना होगा। इसके लिए मजदूरों को फोटो, आधार कार्ड, बचत बैंक खाते, जनधन खाते और बैंक पासबुक की जरूरत होगी। इसके अलावा एलआईसी के सभी कार्यालयों में भी मजदूर नामांकन करा सकेंगे। इन केंद्रों पर सहायता के लिए एक डेस्क भी बनाया जाएगा, जिनका काम होगा कि वे मजदूरों को इस योजना के बारे में जानकारी दें और उन्हें कोई भी दिक्कत होने पर तत्काल तकनीक सहायता उपलब्ध कराएं।

इसके अलावा आप इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण भी करा सकते हैं। मानधन योजना में पंजीकरण के लिए इस लिंक (https://maandhan.in/auth/login) पर क्लिक करें।

अपने नजदीकी सामुदायिक सेवा केंद्र (सीएससी) के बारे में जानने के लिए यहां (https://locator.csccloud.in/) क्लिक करें।

यह भी पढ़ें- किसानों की कीमत पर महंगाई रोकने के मायने?

भारत में 45 फीसदी कामगारों का वेतन 10 हजार से भी कम- रिपोर्ट



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.