सौर ऊर्जा से रहेंगी सब्जियां सुरक्षित

सौर ऊर्जा से रहेंगी सब्जियां सुरक्षितगाँव कनेक्शन

कानपुर। पालक, धनिया, सोया, मेथी, सेम आदि हर वो हरी सब्जी जिनका इस्तेमाल आप कुछ दिनों बाद करना चाहते हैं तो अब आप उसे सुरक्षित रख सकते हैं। आईआईटी के मैटल साइंस एंड इंजीनियरिंग विभाग ने सोलर ड्रायर मशीन तौयार की है जिससे छह महीने तक सब्जी को उसी तरह हरी भरी बनाकर रखा जा सकता है, जैसी की वह ताजी हो।

सौर ऊर्जा से चलने वाली इस मशीन को साल भर की मेहनत के बाद विकसित किया गया है। सब्जियों को संरक्षित करने वाली यह अपनी तरह की  पहली मशीन है, यह  पूरी तरह सौर ऊर्जा से पर आधारित है। मशीन का परीक्षण अंतिम चरण में है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ  वेजीटेबल रिसर्च के साथ मिलकर अब इस शोध को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सोलर ड्रायर में सब्जियों के मिजाज के अनुसार तापमान सेट किया जाता है। किस मिजाज की सब्जी पर बिल्कुल सही कितना तापमान होना चाहिए इस पर वेजीटेबल रिसर्च से चर्चा करने के बाद सोलर ड्रायर पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी। आईआईटी के मैटल साइंस एंड इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर संदीप संघल ने बताया, ''सोलर ड्रायर बनकर तैयार हो चुका है। इसमें सब्जियां रखने के लिए सात ट्रे हैं। प्रत्येक ट्रे में काटकर करीब एक किलोग्राम सब्जी रखी जा सकती है। इसमें रखी सब्जिया निकालने पर सूखी आपके सामने आएंगी, लेकिन पानी में डालने पर फिर से हरी भरी हो जाएगी।''

सर्दियों में भी करेगा काम

सर्दी के दिनों में भी सोलर ड्रायर उसी तरह काम करेगा जैसा गर्मी के दिनों में करता है। इसमें लगे सोलर पैनल को 45 डिग्री तक मोड़ा जा सकता है। इस तरह सर्दी में निकलने वाली कम धूप में भी यह बेहतरीन काम करेगा। जबकि गर्मी के दिनों के लिए इसे 27 से 30 डिग्री पर सेट किए जाने की सहूलियत भी है। जरूरत पडऩे पर इसे और कम ज्यादा किए जाने की दिशा में अभी और काम चल रहा है।

रिपोर्टर - राजीव शुक्ला

Tags:    India 
Share it
Top