साइनस बढ़ा सकता है आपकी समस्या

साइनस बढ़ा सकता है आपकी समस्या
साइनस एक आम बीमारी है जिसमें अक्सर नाक बंद होना, सिर में दर्द होना, आधे सिर में बहुत तेज दर्द होना, नाक से पानी गिरना आम हैं।

गाँव कनेक्शन संवाददाता

लखनऊ। साइनस एक आम बीमारी है जिसमें अक्सर नाक बंद होना, सिर में दर्द होना, आधे सिर में बहुत तेज दर्द होना, नाक से पानी गिरना आम हैं। मौसम बदलने पर सर्दी जुकाम होना आम है लेकिन हमेशा ऐसा होना साइनस के लक्षण हैं। ये नाक की बीमारी है, जिसमें सांस लेने में रुकावट, हड्डी का बढ़ना, तिरछा होना, साइनस भरना तथा एलर्जी आम हैं।

साइनस मानव शरीर की खोपड़ी में हवा भरी हुई कैविटी होती हैं जो हमारे सिर को हल्कापन व सांस वाली हवा लाने में मदद करती है। सांस लेने में अंदर आने वाली हवा इस थैली से होकर फेफड़ों तक जाती है। इस थैली में हवा के साथ आई गंदगी यानी धूल और दूसरे तरह के गंदगियों को रोक ली जाती है और बाहर फेंक दी जाती है। साइनस का मार्ग जब रुक जाता है यानी बलगम निकलने का मार्ग रुकता है तो ‘साइनोसाइटिस’ नामक बीमारी का खतरा हो सकता है।
डॉ मकसूद, लखनऊ के ईएनटी स्पेशलिस्ट

भाप लेना

बारी-बारी दोनों नाक साफ करने के बाद एक बर्तन या स्टीमर में लगभग 300 मिलीलीटर पानी लेकर उबलने तक गर्म करें। जब उबलने लगे तो डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा उचित मात्रा में डालकर, पंखे व कूलर बंद कर कपड़ा ढककर नाक व मुंह से लंबे-लंबे सांस आठ से दस मिनट तक लें।

सिकाई

गर्म कपड़ा या फिर गर्म पानी की बोतल गालों के ऊपर रखकर सिकाई करनी चाहिए। यह प्रक्रिया लगभग एक मिनट के लिए दिन में तीन बार करनी चाहिए, इससे काफी आराम मिलता है।

नाक की सफाई

नाक की सफाई करने से भी सिरदर्द कम करने में काफी मदद मिलती है। नाक की झिल्ली पर अनेक प्रकार के वायरस, बैक्टीरिया, फफूंदी, धूल-मिट्टी के कण, एलर्जी करने वाले कण व धुंआ आदि के कण होते हैं, जिनको साफ करने से बीमारी को आगे बढ़ने से रोका जा सकता है। नाक को साफ करने के लिए आधा गिलास गुनगुना पानी लेकर उसमें एक चम्मच मीठा सोडा या एक चुटकी नमक मिलाना चाहिए, फिर एक हाथ की हथेली में लेकर नाक में पानी खिंचकर आगे निकाल देना चाहिए।

साइनस का घरेलू उपचार

  • प्याज और लहसुन की तरह तीखे खाद्य पदार्थ साइनस के इलाज में फायदेमंद होते हैं। आप अपने नियमित भोजन में इन खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं।
  • गाजर का रस साइनस के इलाज में बहुत फायदेमंद है। एक गिलास गाजर का रस अलग से या चुकंदर, खीरे या पालक के रस के साथ ले सकते हैं।
  • ज्यादा पानी पिएंं। अधिक पानी पीने से मूत्र संबंधी कोई विकार भी नहीं होता। इसके अलावा करीब आधा लीटर पानी में एक चम्मच नमक और बेकिंग सोडा मिलाकर उस पानी से नाक धोने से भी लाभ मिलता है।
  • धूम्रपान, सफाई उत्पाद, हेयर स्प्रे और अन्य धुंआ छोड़ने वाले उत्पाद आपकी समस्या को बढ़ा सकते हैं। अगर आपके परिवार में किसी को साइनस की समस्या है, तो उन्हें घर से बाहर जाकर ही धूम्रपान करना चाहिए।
  • साइनस के मरीजों को धूल से काफी परेशानी हो सकती है। अपने घर को साफ रखिए।
  • घर में वेंटिलेशन सही हो, ताजा हवा आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Share it
Share it
Top