सोलर पंप से चमकी किसान की किस्मत

सोलर पंप से चमकी किसान की किस्मत

सिद्धार्थनगर। जहां एक ओर सूखे की मार से किसानों की धान की फसल को नुकसान पहुंचा वहीं दूसरी ओर कटकी गाँव के कल्लू पासवान को धान की बम्पर उपज प्राप्त हुई। यह कमाल सम्भव हो सका कृषि विभाग द्वारा मिले सोलर पम्प से। सरकारी योजना का लाभ उठाते हुए कल्लू ने इसी वर्ष मई में अपने खेत में सिंचाई के लिए सोलर पम्प लगवाया था। जिसका वह फायदा उठा रहा है।

सिंचाई के लिए सोलर पम्प की उपयोगिता को देखते हुए सरकार सोलर पम्प लगवाने के लिए किसानों को भारी अनुदान देकर प्रोत्साहित कर रही है। इसी के अन्तर्गत जनपद के उस्का विकास खण्ड के ग्राम कटकी निवासी किसान कल्लू पासवान (55 वर्ष) ने अपने दो एकड़ खेत की सिंचाई के लिए सोलर पम्प लगवाया था। 

तब कल्लू को इसके फायदे का अंदाजा नहीं था, लेकिन जब भारी सूखे के बीच किसान अपनी धान की फसल को बचाने के लिए मंहगा डीजल खर्च कर रहे थे, तब वहीं कल्लू का सोलर पम्प पानी उगल रहा था। इस पम्प से कल्लू ने ना केवल अपनी फसल की हरियाली बरकरार रखी बल्कि अपने पड़ोसी किसानों को सिंचाई सुविधा मुहैया कराके कमाई भी की। कल्लू बताते हैं, ''मैंने किसानों को रियायती दर पर 100 रुपए प्रति घण्टा के हिसाब से पम्प चलाकर आमदनी भी हासिल की।" अब इस सोलर पम्प की सफलता के किस्से पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गया है। लोग सोलर पम्प को देखने कल्लू के खेत में पहुंच रहे हैं।

ऐसे मिलता है सोलर पम्प

सोलर पम्प लेने के लिए ब्लॉक स्तर पर तैनात किए गए एडीओ एग्रीकल्चर से सम्पर्क कर आवेदन किया जा सकता है। सोलर पम्प पर सरकार 75 प्रतिशत अनुदान देती है। दो एचपी पम्प के लिए 60,275 रुपये का ड्राफ्ट जबकि तीन एचपी के लिए 1.17 लाख रुपए का ड्राफ्ट कृषि विभाग को देना होता है।

रिपोर्टर- अमित श्रीवास्तव

Tags:    India 
Share it
Top