सरहदों की ‘बंदिशें’ तोड़ते संगीतकार किरण पाठक

सरहदों की ‘बंदिशें’ तोड़ते संगीतकार किरण पाठकgaonconnection

इंटरनेट पर इन दिनों एक वीडियो सुर्खियों में है। इसमें भारतीय शास्त्रीय संगीत का नया रूप देखने को मिल रहा है। किरण पाठक नाम के एक शास्त्रीय संगीतकार ने भारतीय गायन का वैश्वीकरण करने के लिए उनका अंग्रेजी में अनुवाद किया है। इस वीडियो में वह भारतीय शास्त्रीय राग में ‘व्हाट ए कूल प्लीजेंट एटमॉस्फियर हियर’ गाते दिख रहे हैं। ‘नटखट कान्हा’ की जगह ‘ओ नॉटी कृष्णा’ कह रहे हैं। 

दरअसल कुछ दिनों पहले 101 इंडिया नाम के एक यूट्यूब चैनल ने संगीतकार किरण पाठक पर एक वीडियो दिखाया था। इसमें कभी मुश्किल से लगने वाले इस काम को क्लासिकल संगीत के शिक्षक व गायक किरण पाठक ने कर दिखाया है। उन्होंने तमाम बंदिशों का अंग्रेजी में अनुवाद करने का काम किया है, साथ ही उन्होंने अंग्रेजी में नई क्लासिकल धुन भी तैयार की हैं।

वह वीडियो में कहते हैं कि ‘कला बदलनी ही चाहिए। संगीत को ग्लोबल होना चाहिए।’ वीडियो में वो न सिर्फ खुद अंग्रेजी राग गा रहे हैं, बल्कि अपने शिष्यों को वो अंग्रेजी बंदिशें सिखा भी रहे हैं।

किरण पाठक को पश्चिमी संगीत सुनने का बहुत शौक था लेकिन उन्हें वह गीत खासी परेशानी देते थे। किरण बताते हैं, ‘जो बंदिश (कंपोजिशन) कई वर्ष पुरानी हैं और एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी इस पर बिना बदलाव किए इस्तेमाल कर रही है। मैंने उन्हें ही अनुवाद करके दिखाया है। मैं यह पिछले 5-6 साल से कर रहा हूं। इससे भारतीय शास्त्रीय संगीत भारतीय युवाओं के साथ-साथ विदेशी नवयुवकों के लिए भी सहज बनेगा।

इसके लिए मैंने इंग्लिश कवियों की किताब मंगाई और उनकी भाषा को समझने की कोशिश की। जब मैं कभी रैप, रॉक या पॉप म्यूजिक सुनता था तो मुझे उनका संगीत अच्छा लगता था लेकिन भाषा का ज्ञान न होने से उसके बोल नहीं समझ पाता था। फिर मैंने ध्यान किया कि यही परेशानी भारतीय संगीत के लिए विदेशी युवक भी सोचते होंगे। अब हर विदेशी भाषा में इन बंदिशों का अनुवाद होगा। जैसे जर्मनी में जर्मन भाषा में, फ्रांस में फ्रेंच भाषा में।’

कुछ लोग मजाक भी बनाते हैं

 तब से अब तक वे अंग्रेजी में 25 बंदिशें लिख चुके हैं। आज उन्हें सुनने वालों की संख्या हजारों में है। वे अपने गाए गीत यूट्यूब पर अपलोड करते हैं और वे खासे हिट भी हैं। वीडियो में वह कहते हैं कि जिन लोगों को परिवर्तन अच्छा नहीं लगता वे मेरे गीतों का मजाक बनाते हैं। वह कहते हैं कि ये क्या कर रहा है, ये तो हमारी परंपरा को तोड़ रहा है लेकिन मेरा मानना है कि कला को बदलना चाहिए। वह अपने शिष्यों को खमाज राग की बंदिश टेक ए फ्लूएट एंड प्ले ओ कृष्णा सिखाते हैं। इस वीडियो को अब तक लगभग 5,724 लोग देख चुके हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top