आजादी के 70 साल बाद भी इस गाँव को अभी है बिजली का इंतजार

आजादी के 70 साल बाद भी इस गाँव को अभी है बिजली का इंतजारआज़ादी के 70 साल बाद भी जनपद के इस गाँव में बिजली नहीं पहुंची है।

जीत नाग, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

बाराबंकी। आज़ादी के 70 साल बाद भी जनपद के इस गाँव में बिजली नहीं पहुंची है। शाम ढलते ही पूरा गाँव अंधेरे में डूब जाता है। वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शहरों को 24 घंटे बिजली और गाँवों में 18 घंटे बिजली मिलेगी, ऐसे में यह देखना होगा कि क्या अब इस गाँव में बिजली पहुंच पाती है या नहीं।

जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर स्थित विकासखंड सूरतगंज के ग्राम भुल भुलियापुर में करीब आठ वर्ष पूर्व बिजली पहुंचाने के उद्देश्य से विभाग द्वारा खंभे तो लगा दिए गए, लेकिन अभी तक खंभों पर बिजली की लाइन नहीं डाली गई। गाँव के निवासी लल्लाराम (35 वर्ष) ने बताया, “गाँव में बिजली न होने से हमारे बच्चों को रात में डिब्बी जलाकर पढ़ने पर मजबूर होना पड़ता है, जिसकी वजह से उनकी आंखों में तकलीफ भी होने लगती है। ”

ये भी पढ़ें- #MothersDay: ‘कुली नंबर 36 हूं, इज्जत का खाती हूं’, बच्चों को बनाऊंगी अफसर

वहीं गाँव के निवासी रामेश्वर (50 वर्ष) ने बताया, “गाँव में बिजली का न होना सबसे बड़ा दुर्भाग्य है। चुनाव के समय नेता बड़े-बड़े वादे करते हैं, लेकिन चुनाव जीतने के बाद कोई कुछ काम नहीं करते। हमने अपने गाँव में अभी तक बिजली नहीं देखी है।” राकेश लोध (30 वर्ष) ने बताया, “गाँव में बिजली न होने से मोबाइल चार्ज करने के लिए हम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके लिए हमें दूसरे गाँव में जाना पड़ता है।

इस गाँव के प्रधान राजेश कुमार वर्मा ने बताया, “जब गाँव में खंभे लगाने का काम शुरू हुआ था तो उस समय यह आश्वासन दिया गया था कि खंभे लगते ही बिजली लाइन लगाकर लोगों को बिजली सुविधा मिल जाएगी।” बिजली विभाग के जेई राजा राम मिश्रा का कहना है, “गाँव में लाइन बिछाने का काम जल्द शुरू किया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-05-14 14:16:38.0

Share it
Share it
Share it
Top