आलू के बाद मक्का की तैयारी

आलू के बाद मक्का की तैयारीइत्रनगरी जिले में अगेती मक्का की बुवाई शुरू हो चुकी है।

अजय मिश्रा, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। इत्रनगरी जिले में अगेती मक्का की बुवाई शुरू हो चुकी है। जिन खेतों में आलू खुदाई चल रही है, अधिकतर किसान वहां भी मक्का बुवाई का मूड बना चुके हैं।

फसल चक्र की वजह से वह मक्का करते हैं। आलू की खुदाई के बाद मक्का की फसल हो जाती है।
जिला मुख्यालय से करीब 20 किमी दूर उमर्दा ब्लॉक क्षेत्र के चंदियापुर ग्राम पंचायत के मजरा बनियनपुर्वा निवासी ,केसराम

जिले में अब किसानों ने मक्का की ओर रुख कर दिया है।
जिला मुख्यालय से करीब 28 किमी दूर उमर्दा निवासी, सुरजीत यादव

तत्कालीन डीएम अनुज कुमार झा के नेतृत्व में एक मुहिम चलाकर किसानों को प्रेरित किया गया था कि वह दलहनी फसल करें। बीते कुछ वर्षों में मक्का की फसल का रकबा बढ़ा है। बुवाई का समय 10 फरवरी के बाद से शुरू हो जाता है।
नीरज रान, जिला कृषि अधिकारी, कन्नौज

बीते कुछ वर्षों में मक्का की फसल के लिए जिले में रकबा बढ़ा है। इसके पीछे शुरुआती दौर में मक्का बीज पर सब्सिडी दिया जाना भी रहा है। अब तो अधिकतर किसान मक्का फसल का इंतजार करते हैं और वह अगेती व पिछेती दोनों ही तरह की फसलें करते हैं।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Share it
Top