कानपुर में हेल्दी रहने के टिप्स देने और ठंड से कांपते बच्चों को कपड़े-जूते बांटकर शुरू हुआ #स्वयंफेस्टिवल  

कानपुर में हेल्दी रहने के टिप्स देने और ठंड से कांपते बच्चों को कपड़े-जूते बांटकर शुरू हुआ #स्वयंफेस्टिवल  स्वयं फेस्टिवल के शुभारंभ पर सीएमओ आरपी यादव ने मंच से सभी को किया संबोधित।

कानपुर। गाँव कनेक्शन फाउंडेशन की ओर से आयोजित किए जा रहे स्वयं फेस्टिवल के शुभारंभ के तहत जनपद में अपने समाज के लिए कुछ बेहतर करने वालों को सम्मानित किया गया। इस दौरान कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि सहित बतौर विशिष्ट अतिथि जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी आरपी यादव भी मौजूद रहे।

जिलाधिकारी ने किया सम्मानित

कार्यक्रम की शुरुआत के साथ ही जिलाधिकारी ने उन लोगों को सम्मानित किया जिन्होंने अपने अथक प्रयास से समाज में कुछ बदलाव लाने का प्रयास किया है। इस अवसर पर गोविंद नगर स्थित अमरेश्वर भवन में बड़ी संख्या में लोग कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। कार्यक्रम के दौरान अवॉर्ड सेरेमनी, नेत्र जांच शिविर, स्वास्थ्य शिविर, सेबी की ओर से एक जागरूकता कार्यक्रम व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया। वहीं, सभी आगंतुकों ने गाँव कनेक्शन की इस कोशिश को सराहा।

स्वयं फेस्टिवल के तहत साहवेस संस्था की ओर से गरीब परिवार के बच्चों को पहनाए गए जूते।

गरीब परिवार में खुशी बनकर पहुंचा स्वयं

इस बीच साईंपुरवा मलिन बस्ती में जाकर साहवेस संस्था ने स्वयं फेस्टिवल के अवसर पर गरीब परिवार के बच्चों को जूते बांटकर उनकी मदद की। साथ ही, करीब 200 बच्चों को खाना खिलाकर औरों को मदद करने के लिए आगे आने के लिए कहा। इस बीच करीब 50 बच्चों को जूते बांटे गए।

स्वयं फेस्टिवल के तहत करीब 200 बच्चों को कराया भोजन।
स्वरूप नगर स्थित पुष्पा सर्राफ की ओर से नेत्रहीन बच्चों को बांटे गए स्वेटर और मोजे।

नेत्रहीन बच्चों को बांटा गया

इस बीच पुष्पा सर्राफ की ओर से नेत्रहीन बच्चों को स्वेटर और मोजे बांटे गए। इस कार्यक्रम का आयोजन नेहरू नगर स्थित ब्लाइंड स्कूल में किया गया। हालांकि, मासूम बच्चों को नेत्रहीन देखकर वहां मौजूद लोग भावविभोर हो गए।

सभी के लिए है कुछ खास

इस बीच आयोजित की जाने वाली किसान गोष्ठियों में कृषि विशेषज्ञ किसानों को कम खर्च में अधिक मुनाफ़ा कमाने के गुर बताने के साथ ही उन्हें केंद्र और राज्य सरकार की समूचित लाभकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से बताएंगे। साथ ही, पशुओं का नि:शुल्क टीकाकरण कराया जाएगा। लड़कियों को आत्मरक्षा के लिए मजबूत बनाते हुए जूडो-कराटे का प्रशिक्षण दिया जाएगा। वहीं, छात्र-छात्राओं में खेल भावना को बढ़ाने के लिए कई स्कूलों के बीच खोखो और क्रिकेट प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान यूपी पुलिस के अधिकारी बच्चों और बड़ों को क़ानूनी जानकारी देने के साथ ही उन्हें संकट की घड़ी में किस तरह पुलिस की त्वरित मदद पाने के तरीके भी सुझाएंगे। फोन पर लड़की और महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ की घटनाओं को अंजाम देने वाले शोहदों को किस तरह सबक सिखाया जाए, इसके लिए 1090 की महिला पुलिस अधिकारियों की ओर से जानकारी मुहैया कराई जाएगी। दो से लेकर आठ दिसंबर तक होने वाले इस महाग्रामीण उत्सव में विभिन्न प्रकार के रंग देखने को मिलेंगे।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top