अग्निकाण्ड: हाईटेंशन तार से लगी आग, 150 एकड़ गेहूं की फसल हुई खाक

अग्निकाण्ड: हाईटेंशन तार से लगी आग, 150 एकड़  गेहूं की फसल हुई खाकहाईटेंशन तार टूटने से किसानों की 150 एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल राख हो गयी।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

ललितपुर। खेतो में गेहूं की फसल की कटाई चल रही है, शुक्रवार को हाईटेंशन तार टूटने से किसानों की 150 एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल राख हो गयी, हादसा ललितपुर जनपद से उत्तर दिशा की ओर 10 किलोमीटर दूर बिरारी गाँव में हुआ।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शक्रवार दोपहर 2 बजे तपती धूप में खेतों के ऊपर से निकली बिजली के हाईटेंशन तार टूट कर खेतों में जा गिरा, देखते ही देखते खेतों मे आग लग गई और आग ने रूद्र रूप धारण कर लिया परिणाम स्वरूप आस पास के पूरे क्षेत्र में लगभग 150 एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल धू धू कर जलने लगी! ग्रामीणों ने बताया कि "तेज हवा चलने के कारण एक खेत से दूसरे खेत व दूसरे से तीसरे खेत में आग फैलती गयी, और आग खौखरा गाँव तक पहुच गयी।

नुकसान का आंकलन करवाया जायेगा, आंकलन के बाद पीड़ित परिवार जन को मुआवजा राशि दिलवायी जायेगी।
रमेशचंद्र तिवारी, उपजिलाधिकारी ,सदर

जिससे गेहूं की फसल खाक हो गयी!" दमकल की पाँच गाड़ियों ने बड़ी मशक्कत के बाद दो घण्टे में आग पर काबू पाया, सूचना मिलते ही रमेश चन्द्र तिवारी उपजिलाधिकारी सदर मौके पर पहुंचे व किसानों के नुकसान का मुआईना किया। किसानों ने नुकसान का मुआवजा दिलाये जाने की माँग की।

वहीँ दूसरी ओर ललितपुर से उत्तर दिशा में विघा खेत गाँव के इमरत सिंह के खेत के ऊपर से 33 केवी लाईन के तारों से दिन के 12 बजे फाल्ट होने से तारों से चिंगारी निकली। चिंगारी निकलते ही तार टूटकर खेत में गिर गया और देखते ही देखते 10 एकड़ गेहूं की खड़ी फसल आग की चपेट में आ गयी और पूरी फसल राख हो गयी।

इमरत सिंह (45 वर्ष) ने बताया, "गाँव वालों ने आग पर काबू पाने के लिए प्रयास किया, करीब एक घण्टे बाद फायरब्रिगेड पहुंची, जब तक 10 एकड़ की फसल राख हो चुकी थी, वो रोते हुए आगे बताते है कि हम तो बर्बाद हो गये, पूरी फसल जल चुकी।" हादसे के बाद गाँव वालों और परिजनों में गुस्सा फूट गया, और फोर लाईन पर चक्का जाम कर दिया, जिससे यातायात पूरी तरह बाधित रहा। सूचना मिलते ही डा० रूपेश कुमार जिलाधिकारी, रमेशचंद्र तिवारी उपजिलाधिकारी सदर मौके पर पहुंचे और किसानों को समझाने का प्रयाश किया। तब जाकर परिजनों ने चक्का जाम खोला।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top