कन्नौज जिले में वोटर लिस्ट में नाम न हाेने से वंचित रहे सैकड़ों गाँव के मतदाता 

कन्नौज जिले में वोटर लिस्ट में नाम न हाेने से  वंचित रहे सैकड़ों गाँव के मतदाता मतदान केंद्र के बाहर लगी कतार

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज/इंदरगढ़/गुरसहायगंज/तिर्वा। जिला प्रशासन के वोटर लिस्ट दुरूस्त होने के उन दावों की हवा निकल गई जब कई ऐसे लोग वोट करने से वंचित हो गए, जो वर्षों से मतदान करते आ रहे थे।

गुरसहायगंज के आजादनगर मोहल्ला निवासी राजकिशोर (22 वर्ष ) ने बताया कि जब वह मतदान करने गया तो उनका नाम सूची में नहीं था। पिछले विधानसभा चुनाव में वोट डाला था। लेकिन इस बार उन्हें रविवार को उसे केंद्र से भगा दिया गया।

तिर्वा के मोहल्ला दुर्गानगर निवासी आभा ने बताया कि कई बार से वह चुनाव में वोट करती आ रही हैं। इस बार आयोग की ओर से वोटरों को भेजी गई मतदाता पर्ची नहीं प्राप्त हुई। जब आयोग के टोलफ्री नंबर पर संपर्क किया तो बताया गया कि वोट काट दिया गया है। बीएलओ ने भी नाम और पर्ची न होने की बात कही। इसी तरह मित्रसेनुपर की रश्मि मिश्रा ने बताया कि उनके पास मतदाता पहचान पत्र है, लेकिन सूची में नाम काट दिया गया। दूसरी जगह पर उनका नाम भी नहीं है।

इसी तरह कलसान की पूर्व प्रधान माया देवी के प्रतिनिधि जनवेश यादव ने बताया कि जब वह वोट करने गए तो सूची में नाम नहीं मिला। उन्होंने आगे बताया कि वह सभी चुनावों में मतदान करते आए हैं, लेकिन इस बार वंचित हो गए। उद्यमपुर के पूर्व प्रधान तब्बू त्रिपाठी का भी नाम सूची से काट दिया गया। उन्होंने बताया कि तीसरे चरण में हुए विधानसभा चुनाव में वह वोट नहीं दे सके। बताते चलें कि इस बार विधानसभा चुनाव से पहले हजारों मतदाताओं के नाम सूची से काटे गए हैं, इसके पीछे अफसरों का तर्क है कि गलत मतदाताओं के नाम हटाए गए हैं। रविवार को सच्चाई सामने आ गई कि कई जायज मतदाताओं को उनके मताधिकार से वंचित कर दिया गया।

वोटर बोले, विकास कराने वाले को प्राथमिकता

तिर्वा/कन्नौज। कन्नौज जिले में तीसरे चरण के तहत 19 फरवरी को मतदान हुआ। इस बाबत ‘गांव कनेक्शन‘ ने कुछ मतदाताओं से पूछा कि कैसे प्रत्याशी या पार्टी को पसंद करते हैं तो उन्होंने विकास और शिक्षा की गुणवत्ता को वरीयता दी।

तिर्वा विधानसभा क्षेत्र के प्राथमिक स्कूल उमर्दा पर पहली बार मतदान करने आईं 18 साल की अनुष्का ने बताया कि विकास कार्यों को प्राथमिकता देकर वोट किया है। क्षेत्र का विकास होगा तो अपना भी विकास होगा।

इसी मतदान केंद्र पर वोट करने आए 68 साल के खलील अहमद ने बताया, ‘‘कन्नौज जिले को कोई जानता नहीं था। कुछ सालों से यहां विकास हुआ है, जिसको आधार मानकर उन्होंने वोट किया है।”

शिक्षा को आधार मानकर किया मतदान।

बेलामऊ सरैया प्राथमिक पाठशाला पर मतदान करने आए 21 साल के अवनीश कुमार ने बताया कि ‘‘शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होना चाहिए। वोट करने में यह मेरी प्राथमिकता है। उनको क्षेत्र का विकास पसंद है, लेकिन बदलाव चाहते हैं कि और भी बेहतर कोई विकास कार्य करे। दूसरों को भी मौका मिलना चाहिए।‘‘

रिपोर्टिंग टीम- कन्नौज से अजय मिश्र, तिर्वा से मोहम्मद परवेज, गुरसहायगंज से आशीष शर्मा और इंदरगढ़ से विवेक राजपूत।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top