कई लड़कियां बनेंगी अपने समाज की आवाज

कई लड़कियां बनेंगी अपने समाज की आवाजफोटो: गाँव कनेक्शन

अश्वनी कुमार द्विवेदी

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। जनपद लखनऊ के गाँवों में आजकल गाँव कनेक्शन फाउंडेशन के स्वयं प्रोजेक्ट के तहत 'बनिये अपने गाँव की आवाज' कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसमे पढ़े लिखे युवक युवतियों को गाँव कनेक्शन में अपने गाँव के मुद्दे को लिखने का मौका दिया जाएगा।

लखनऊ जनपद मुख्यालय से 18 किमी की दूरी पर स्तिथ गाँव वीरमपुर मे द सोसायटी फ़ॉर एजुकेशन स्किल डेवलपमेन्ट एंड पब्लिक हेल्थ संस्था के सहयोग से "बनिये अपने गाँव की आवाज" कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

वीरम पुर गाव की 22 वर्षीय दीपा यादव ने बताया, ''हमारे यहाँ शिक्षा, स्वास्थ्य, और सफाई का अभाव है किशोरिया और युवतियां अपने स्वास्थ्य को लेकर सजग नही है, जिसके चलते उन्हें विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन हमारी समस्याएं कोई सुनना नही चाहता, हमारे पास ऐसा कोई माध्यम नही है जिससे हम अपनी बात किसी सक्षम अधिकारी या सरकार तक पहुचा सके।''

2500 लोगो की आबादी वाले इस गाँव मे अकेले दीपा यादव ही परास्नातक की शिक्षा प्राप्त कर सकी है। पढ़ाई के साथ ही दीपा गाव की अन्य लड़कियों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित कर रही है|

वीरम पुर गाव की ही प्रियांशी यादव कि गाँव की लड़कियों को अगर सही शिक्षा मिले तो वो भी अपने परिवार का सहारा बन सकती है पर हम लोगो की बात सुनता ही कौन है।

द सोसायटी फ़ॉर एजुकेशन स्किल डेवलोपमेन्ट एंड पब्लिक हेल्थ के जिला समन्यवयक महेंद्र कुमार कहते है, ''हम काफी समय से ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर रहे है,असुविधाओं और दिक्कतों के चलते कोई अखबार गाँव जाकर काम नही करना चाहते हमें इस अखबार के साथ काम करके काफी खुशी है कि अब गाव के लोग अपनी बात खुद अखबार के माध्यम से लिख पाएंगे अपनी समस्या खुद कह पाएंगे।

First Published: 2017-05-14 20:19:08.0

Share it
Share it
Share it
Top