अब रायबरेली वालों को 1073 डायल करने पर भी मिलेगी पुलिस मदद

अब रायबरेली वालों को 1073 डायल करने पर भी मिलेगी पुलिस मददप्रतीकात्मक फोटो।

किशन कुमार: (कम्यूनिटी जर्नलिस्ट) 36 वर्ष

रायबरेली। अब अगर कहीं अपराध हो, दुर्घटना हो जाए या फिर कोई भी परेशान कर रहा हो तो रायबरेली निवासी 1073 नम्बर डायल करके भी पुलिस मदद ले सकेंगे। इमरजेंसी नम्बर 100 का संचालन यूपी 100 प्रोजेक्ट के तहत लखनऊ से शुरू हो चुका है। यूपी 100 में शिकायत दर्ज कराने में कंट्रोल रूम लखनऊ से मिले निर्देशों के अनुसार जिला पुलिस काम करेगी। वहीं 1073 पर होने वाली शिकायत को रायबरेली में तैनात पुलिस अधिकारी निस्तारित करेंगे।

जिले के पुलिस अधीक्षक विनय कुमार यादव ने बताया कि यूपी 100 प्रोजेक्ट के तहत जिले को 47 चार पहिया वाहन मिले हैं,जिसमें से सात लग्जरी वाहन हैं। इन्हें हाइवे पर पड़ने वाले थानों पर लगाया गया है। अन्य 40 गाडि़यों को थाने की संवेदनशीलता के आधार पर दो या तीन की संख्या में लगाया गया है। शहर के सिविल लाइन, बस स्टाप, घण्टा घर, कैपर गंज, रतापुर आदि पर हर घण्टे पर गश्त होने लगी है। हर गाड़ी में एक उपनिरिक्षक तथा एक सिपाही को ज़िम्मेदारी दी गई है।

यूपी 100 प्रोजेक्ट शुरू होने से अपराधों पर लगाम लगेगी। मुख्य रूप से लूटपाट और छेड़छाड़ की घटनाओं पर अंकुश लगेगा क्योंकि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचेगी। आने वाले वक्त पर जिले में बेहतर पुलिसिंग सेवा सभी को मिलेगी।
विनय कुमार यादव, पुलिस अधीक्षक

यूपी 100 प्रोजेक्ट में यह है खास

  • 100 नम्बर डायल करने में 20 मिनट में पहुंचेगी पुलिस।
  • यूपी 100 की सभी काल रिकार्ड की जायेंगी।
  • पीड़ित के संतुष्ट होने के बाद ही केस बंद किया जाएगा।
  • वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगे होने की वजह से वाहनों की लोकेशन पर नज़र रखी जा रही है।
  • शहरी क्षेत्रों में 10 मिनट और ग्रामीण क्षेत्रों में 20 मिनट में मिलेगी पुलिस मदद।

ताकि अपराधों पर लगे लगाम

इसके अलावा रायबरेली जिले में 100 वाहन चालक भी तैनात कर दिये गए हैं। ये गाड़ियां प्रतिदिन 150 किलोमीटर का सफर तय करेंगी। चौराहों पर खास नज़र रखने के अतिरिक्त ये गाड़ियां क्षेत्र भ्रमण करती रहेंगी। ताकि अपराधों पर लगाम लगाई जा सके।

हाइवे पर होगी खास निगरानी

यादव ने आगे बताया कि लखनऊ इलाहाबाद हाइवे पर और इससे लगे मार्गों पर व कोतवाली में तेज रफ्तार वाली लग्जरी गाड़ियां लगाई गयी हैं, जिनमें मुख्यरूप से बछरावां, भदौखर, ऊंचाहार, मिल एरिया और शहर कोतवाली शामिल हैं। पशु तस्करी व अवैध शराब का गढ़ माने जाने वाले लालगंज तथा महराजगंज को भी एक-एक लग्जरी डायल 100 गाड़ी दी गई है।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top