#स्वयं फेस्टिवल के आगाज के साथ सोनभद्र में छटा कोहरा, ग्रामीणों में दिखा जोश

#स्वयं फेस्टिवल के आगाज के साथ सोनभद्र में छटा कोहरा, ग्रामीणों में दिखा जोशरंगोली सजाते बच्चे।

विष्णु तिवारी (कम्युनिटी जर्नलिस्ट)

सोनभद्र। स्वयं फेस्टिवल 2016 के तहत सोनभद्र जिले के राबर्ट्सगंज ब्लाक के चुर्क गाँव में दो दिसम्बर को ग्रामीण स्वच्छता मिशन के अंतर्गत मार्निंग फालोअप कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सोनभद्र जिले व राबर्ट्सगंज ब्लाक के अधिकारियों ने ग्रामीणों को स्वच्छता और साफ़ सफाई के फायदे और नुकसान की जानकारी दी। सोनभद्र की सर्दी और कोहरे के बावजूद ग्रामीणों का उत्साह देखते बन रहा था। इस सर्दी भरी ठंड में ग्रामीणों ने कसम खाई कि जिले को खुले में शौच मुक्त कराके दम लेंगे।

अजय सिंह एडीओ पंचायत ग्रामीणों को जानकारी देते हुए।
आज से स्वयं फेस्टिवल का शुभांरम्भ हुआ।
खुले में शौच मुक्त अभियान की बात को ध्यान से सुनते ग्रामीण।
ग्रामीणों ने खुले में शौच मुक्त अभियान को पूरा समर्थन किया।
ग्रामीणों ने खूब नारे लगाए।

खुले में शौच मुक्त गाँव गौरव यात्रा सोनभद्र के राबर्ट्सगंज ब्लाक के चुर्क गाँव और केकराही गाँव में किया गया।

सोनभद्र में खुले में शौच मुक्त गाँव बनाने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। सोनभद्र की सदर ब्लॉक के अमोखर गाँव में ग्राम पंचायत ने खुले में शौच करने वाले व्यक्ति पर 50 रुपए का जुर्माने ठोंकने का फैसला लिया है। यह फैसला अमोखर गाँव की खुली बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया था कि कोई भी व्यक्ति अगर खुले में शौच करते देखा गया तो उससे 50 रुपए जुर्माना वसूला जाए। जुर्माने की रकम से उन घरों में शौचालय बनवाए जाएंगे जहां नहीं है। कई कार्यक्रम जनता के स्तर से चलाए जा रहे हैं।

मिर्जापुर जिले से 4 मार्च 1989 को अलग होकर सोनभद्र ने एक अलग जिले के रूप में अंगडाई ली। जिले का मुख्यालय राबर्ट्सगंज बनाया गया। जिले की सीमा पश्चिम में मध्य प्रदेश, दक्षिण में छत्तीसगढ़, पूर्व में झारखण्ड तथा बिहार एवं उत्तर में उत्तर प्रदेश का मिर्जापुर जिला है। रार्बट्सगंज जिले का प्रमुख नगर तथा जिला मुख्यालय है। जिले की जनसंख्या 14,63,519 है तथा इसका जनसंख्या घनत्व उत्तर प्रदेश में सबसे कम 198 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी है।

Share it
Top