दूषित पानी पीने को मजबूर हैं छात्र

दूषित पानी पीने को मजबूर हैं छात्रशिक्षा विभाग बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

अब्दुल कादिर, स्वयं कम्यूनिटी जर्नलिस्ट

सिद्धार्थ नगर। शिक्षा विभाग बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। जिले के कई प्राथमिक विद्यालयों में लगे सरकारी हैंडपंप दूषित पानी दे रहे हैं। मजबूरी में जिन्हें पीकर बच्चे बीमार हो रहे हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिला मुख्यालय से 19 किलोमीटर पूरब दिशा में स्थित प्राथमिक विद्यालय बरोहिया खालसा में लगे हैंडपंप का पानी दूषित हो चुका है। स्कूल के बच्चों का कहना है, हैण्डपम्प से बदबूदार पानी निकल रहा है। स्कूल के आस-पास कोई नल नहीं होने के कारण हमें प्यास लगने पर यह दूषित पानी ही पीना पड़ता है। दूषित पानी पीने से आए दिन बच्चे बीमार हो रहे हैं।

विद्यालय समिति के अध्यक्ष ग्राम प्रधान वजीर अहमद ने बताया, “सम्बंधित विभाग को रिबोर करने के लिए कई बार शिकायत पत्र दे चूका हूं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।” विद्यालय की इंचार्ज दयावती पाण्डेय ने बताया, “हमने संबंधित अधिकारी से कई बार लिखित शिकायत की, बावजूद इसके विभाग से कोई जवाब नहीं नहीं मिल रहा है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top