# शुरू हुआ स्वयं फेस्टिवल : उम्मीदों का उत्सव, अनकही कहानियों का उत्सव

# शुरू हुआ स्वयं फेस्टिवल : उम्मीदों का उत्सव, अनकही कहानियों का उत्सवगाँव कनेक्शन फाउंडेशन के अंतर्गत दिसंबर 2015 में हुए स्वयं फेस्टिवल में शामिल आगंतुकों की तस्वीर। इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था।

लखनऊ। देश का सबसे बड़ा ग्रामीण उत्सव स्वयं फेस्टिवल आज प्रदेश के 25 ज़िलों में शुरू हो गया है। 8 दिसंबर तक चलने वाले एक हफ्ते के इस इवेंट में 1000 से भी ज़्यादा कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

गाँव कनेक्शन की चौथी सालगिरह

गाँव कनेक्शन की चौथी सालगिरह पर आयोजित इस फेस्टिवल में सात लाख से ज़्यादा छात्र-छात्राएं, किसान और ग्रामीण हिस्सा लेंगे, इस लिहाज़ से ये कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में अपनी तरह का पहला और सबसे बड़ा आयोजन होगा।

‘गांव कनेक्शन फाउंडेशन’ और ‘स्वयं प्रोजेक्ट’ की कोशिश है कि इस कार्यक्रम के ज़रिए गांव के लोगों को उनकी भाषा में अलग-अलग विषयों से जुड़ी जानकारी दी जाए, उनकी ज़िंदगी और समाज से जुड़े मुद्दों पर उन्हें जागरूक किया जाए और उनकी ज़िंदगी को बेहतर बनाने की कोशिश की जाए।

एनजीओ व जिला प्रशासन कर रहे सहयोग

‘स्वयं’ की इस कोशिश को प्रदेश की 650 से ज़्यादा स्वयंसेवी संस्थाओं, कृषि और पशुपालन विभाग के साथ-साथ उत्तर प्रदेश पुलिस का सहयोग मिला है। इन विभागों और संस्थाओं की मदद से करीब सात लाख ग्रामीणों और युवाओं के साथ एक सीधा संवाद स्थापित कर उन तक कृषि, रोजगार, शिक्षा और विकास से जुड़े विषयों की जानकारी उन तक पहुंचाई जाएगी।

सोनभद्र में बकरी वितरण तो मथुरा-कन्नौज में नदी की सफाई होगी

फेस्टिवल के तहत सोनभद्र जैसे पिछड़े इलाकों में गरीबों को जीविका चलाने के लिए बकरी वितरित की जाएगी। खेती से जुड़े विभिन्न पहलुओं के बारे में विशिष्ट जानकारियों के लिए किसानों को सीधे कृषि वैज्ञानिकों और अधिकारियों के साथ संवाद करने का मौक़ा भी मिलेगा। कार्यक्रम के दौरान हर जिले में किसान चौपाल, मृदा परीक्षण, एनिमल वैक्सीनेशन, बीज वितरण आदि आयोजन भी किये जाएंगे. ग्रामीणों को आरटीआई, ई-गवर्नेंस, इंटरनेट के सदुपयोग जैसे बदलते वक्त के लिए अहम विषयों की जानकारी भी दी जाएगी। इसके साथ ही मथुरा से लेकर कन्नौज के बीच गंगा और यमुना नदियों की सफाई भी की जाएगी। कार्यक्रम के तहत शाहजहांपुर की जेल में हेल्थ कैंप और लखनऊ की जेल में कैदियों के लिए स्ट्रेस मैनेजमेंट की काउंसिलिंग कराने की योजना भी है।

14 दिसंबर को लखनऊ में होगा भव्य समापन

2 से 8 दिसंबर तक प्रदेश भर में चलने वाले ‘स्वयं सप्ताह’ के बाद 14 दिसंबर को प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ‘स्वयं अवॉर्ड्स’ का भव्य आयोजन किया जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। इस कार्यक्रम में समाज के लिए विशेष योगदान देने वाले 12 चुनिन्दा लोगों को ‘स्वयं’ अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा।

कम्युनिटी जर्नलिस्ट तैयार करता है गाँव कनेक्शन

गांव कनेक्शऩ फाउंडेशन मुख्य रूप से ग्रामीण इलाके के छात्र-छात्राओं और किसानों के बीच काम करता है। ‘स्वयं प्रोजेक्ट’ फाउंडेशन का फ्लैगशिप कार्यक्रम है, जिसका उद्देश्य ग्रामीण प्रतिभाओं और आम लोगों को कम्युनिटी जर्नलिस्ट बनाना है। फाउंडेशन से ट्रेनिंग के बाद ये लोग न सिर्फ अपने गांव की आवाज़ बनते हैं बल्कि अपनी जीविका प्राप्त कर अब वो स्वावलंबी भी बन रहे हैं। यूपी के 25 से ज्यादा जिलों में अब तक 50 हज़ार से ज्यादा छात्र-छात्राएं और 10 हज़ार से ज्यादा किसान, आशा बहुएं, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं स्वयं प्रोजेक्ट से जुड़ चुके हैं।

स्वंय फेस्टिवल की ख़ास बातें-

1. 2-8 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश के 25 ज़िलों में मनाया जाएगा ‘स्वयं सप्ताह’

2. प्रदेश के 25 ज़िलों में 1000 से ज़्यादा कार्यक्रम होंगे

3. 7 लाख से ज़्यादा ग्रामीणों, युवाओं से सीधा संपर्क

4. कृषि, रोज़गार, स्वास्थ्य, शिक्षा जैसे विषयों पर दी जाएगी जानकारी

5. हेल्थ कैंप, आंखों के चेक अप, योग आदि के कैंप लगाए जाएंगें

6. महिलाओं के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए वर्कशॉप

7. महिलाओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी

8. आधार कार्ड बनाने, स्वायल टेस्टिंग के लिए कैंप लगेंगे

9. जानवरों के वैक्सिनेशन के कैंप लगेंगे

10. कई ग्रामीणों को बकरियां बांटी जाएंगी

11. कृषि विभाग की तरफ से किसानों में बीज का वितरण किया जाएगा

12. प्रदेश की 650 स्वयंसेवी संस्थाओं, सरकारी विभागों और यूपी पुलिस की सहभागिता

Share it
Top