ट्रैस स्कीमर मशीन साफ करेगी गंगा का कचरा 

ट्रैस स्कीमर मशीन साफ करेगी गंगा का कचरा गंगा नदी की सफाई के लिए वाराणसी नगर निगम ने एक बड़ा कदम उठाया है।

देवांशु मणि तिवारी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। गंगा नदी की सफाई के लिए वाराणसी नगर निगम ने एक बड़ा कदम उठाया है। नगर निगम गंगा में रोज़ाना तैरती माला-फूल, प्लास्टिक, प्रसाद और अन्य प्रकार की गंदगी हटाने के लिए घाटों पर ट्रैस स्कीमर मशीन लगाने जा रहा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस मशीन के बारे में संयुक्त नगर आयुक्त, वाराणसी रमेशचंद्र सिंह बताते हैं, ‘’गंगा में बढ़ रहे प्रदूषण को रोकने के लिए हमने कोयंबटूर से ट्रैस मशीन मंगाई है। यह मशीन के संचालन के लिए नगर निगम प्रतिमाह करीब सात लाख रुपए खर्च करेगा। यह मशीन गंगा जल में तैरती माला-फूल, प्लास्टिक और अन्य प्रकार की गंदगी को साफ कर देगी।’’

ट्रैस स्कीमर मशीन को कोयंबटूर की कंपनी कांफीडेंट इंजीनियरिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड मौजूदा समय में रामनगर घाट पर एसेंबल कर रही है। पांच दिन के अंदर मशीन का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

वाराणसी जिले के अलावा इस मशीन के सफल संचालन के बारे में बताते हुए कांफीडेंट इंजीनियरिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारी विगनेश बताते हैं, ‘’अभी तक हमारी कंपनी इस मशीन को इलाहाबाद, कानपुर, मथुरा, वृंदावन व गढ़मुक्तेश्वर में नदियों में लगा चुकी है और इन क्षेत्रों में हमें अच्छा रिस्पोंस मिला है।’’

अभी तक हमारी कंपनी इस मशीन को इलाहाबाद, कानपुर, मथुरा, वृंदावन व गढ़मुक्तेश्वर में नदियों में लगा चुकी है और इन क्षेत्रों में हमें अच्छा रिस्पोंस मिला है।
विगनेश, अधिकारी कांफीडेंट इंजीनियरिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड

स्कीमर मशीन में कनवेयर प्रणाली का इस्तेमाल किया गया है। यह प्रणाली नदी में तैरते कूड़े, पॉलीथीन जैसे बायोडिग्रेडेबल वेस्ट को अपने अंदर खींच लेती है। यह मशीन हर दिन चार से पांच कुंतल कचरा खींचने की क्षमता रखती है। मशीन को चलाने की ज़िम्मेदारी नगर निगम को सौंपी गई है। गंगा की सफाई के लिए इससे पहले टाटा कंपनी की ओर से एक छोटी मशीन गंगा में उतारी गई थी, जो सतह पर बह रही गंदगी की सफाई कर रही थी। यह ट्रायल कारगर साबित हुआ था। इसी के बाद से नगर निगम ने ट्रैस स्कीमर मशीन को लगाने का फैसला लिया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top