#स्वयंफेस्टिवल: बांदा में छात्राओं ने जानीं अपनी ताकत, यूपी पुलिस ने गिनाईं अपनी नई योजनाएं

#स्वयंफेस्टिवल: बांदा में छात्राओं ने जानीं अपनी ताकत, यूपी पुलिस ने गिनाईं अपनी नई योजनाएंबांदा के बंदौसा ब्लॉक स्थित दीनानाथ बालिका कॉलेज में सैकड़ोंं छात्राओं ने यूपी पुलिस की नई सेवाओं के बारे में हासिल की जानकारी।

बांदा। क्या आप लोग यूपी पुलिस की सेवा 1090 के बारे में जानते हैं? क्या आप डायल 100 के बारे में जानते हैं? क्लास में बहुत ही कम छात्राएं रहीं, जिन्होंने अपने हाथ उठाये। जब उनसे पूछा गया कि आप क्या जानते हैं इन सेवाओं के बारे में, तो वे भी आधी-अधूरी जानकारी तक ही सीमित रहीं। आमजन को यूपी पुलिस की नई सेवाओं के बारे में पूरी जानकारी देने के लिए यूपी पुलिस ने स्वयं फेस्टिवल के तहत बांदा के बंदौसा ब्लॉक स्थित दीनानाथ बालिका कॉलेज में शुक्रवार को ग्रामीण बालिका जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य बालिकाओं में पुलिस द्वारा चलाई जा रही 1090, महिला सम्मान प्रकोष्ठ जैसी सेवाओं के बारे में जानकारी देना रहा।

बड़ी संख्या में छात्राएं हुईं शामिल

इस कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में छात्राएं शामिल हुईं। कार्यक्रम में सीओ जितेंद्र सिंह परिहार्य समेत कई पुलिस अधिकारी शामिल हुए। इस मौके पर पुलिस अधिकारियों ने छात्राओं को न केवल डायल 100 और वूमेन पॉवर लाइन 1090 के बारे में विस्तार से जानकारी दी, बल्कि इन सेवाओं से छात्राओं को होने वाले फायदे के बारे में भी बताया। इतना ही नही, पुलिस अधिकारियों ने साइबर क्राइम, फेसबुक और टिवटर के जरिये होने वाले अपराधों के विषय में बहुत ही रोचक और जरूरी जानकारियों से अवगत करवाया गया। यूपी पुलिस के इस विशेष सत्र में सीओ जीतेंद्र सिंह परिहार्य समेत थानाअध्यक्ष मनोज पाठक ने छात्राओं को ईमेल हैकिंग, एकाउंट हैकिंग, एटीएम फ्रॉड और साइबर अपराधों के बारे में भी जानकारी दी। इसके अलावा कार्यक्रम के दौरान कॉलेज प्रबंधक विजय कुमार पांडेय, प्रिंसिपल ममता मिश्रा और पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अर्जुन मिश्रा भी शामिल रहे।

जानें, क्या है डायल 100 योजना

कार्यक्रम में छात्राओं ने भी बताईं अपनी समस्याएं।

असल में यूपी पुलिस की डायल 100 योजना पूरे प्रदेश के लिए है। किसी प्रकार की आपदा में फंसे किसी व्यक्ति की सूचना पर 15 से 20 मिनट के भीतर पुलिस मौके पर पहुंचेगी। इसके लिए राजधानी लखनऊ में एक केंद्रीयकृत प्रणाली का विकास भी किया गया है। इस केंद्रीयकृत प्रणाली के जरिये डायल 100 में आने वाली सभी फोन कॉल्स रिकॉर्ड होंगी और यह वायरले, मोबाइल और इंटरनेट से जुड़ा होगा। इस नई योजना के जरिये समस्या के समाधान होने तक पुलिस कार्यवाही की लगातार समीक्षा करती रहेगी। इसके अधीन जिलों में जीपीएसयुक्त गाड़ियां घटनास्थल पर कार्रवाई के लिए भेजी जाएंगी।

जानें, क्या है वूमेन पॉवर लाइन 1090

उत्तर प्रदेश में महिला उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने वूमेन पॉवर लाइन 1090 की स्थापना की है। महिला सशक्तिकरण की दिशा में वूमेन पॉवर लाइन ने अपनी अलग पहचान बनाई है। एक राज्य, एक नंबर 1090 कोई भी पीड़ित महिला या उसकी महिला रिश्तेदार अपनी शिकायत इस नंबर पर नि:शुल्क दर्ज करवा सकती है। शिकायत करने वाली महिला की पहचान पूरी तरह गोपनीय रखी जाती है। पीड़िता को किसी भी हालत में पुलिस थाने या किसी आफिस में नहीं बुलाया जाएगा। हेल्पलाइन में हर हाल में महिला पुलिस अधिकारी ही पीड़िता की शिकायत दर्ज करेगी।

Share it
Top