नहीं भरा मकान का किराया, नाराज मालिक ने आंगनबाड़ी सहित बच्चों को निकाला

किराए के मकान में चल रहे आंगनबाड़ी केंद्र का किराया न भरे जाने पर मकानमालिक ने कमरा खाली करा दिया, अब सड़क किनारे आंगनबाड़ी केंद्र चल रहा है। इस वजह से देवास के एक आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चे सड़क के किनारे पढ़ने और पोषाहार खाने को मजबूर हैं।

मनीष वैद्य, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

देवास (मध्य प्रदेश)। किराए के मकान में चल रहे आंगनबाड़ी केंद्र का किराया न भरे जाने पर मकानमालिक ने कमरा खाली करा दिया, अब सड़क किनारे आंगनबाड़ी केंद्र चल रहा है। इस वजह से देवास के एक आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चे सड़क के किनारे पढ़ने और पोषाहार खाने को मजबूर हैं।

12 महीने से नहीं भरा आंगबाड़ी भवन का किराया

मध्यप्रदेश के देवास जिले में ज्यादातर आंगनबाड़ी केंद्र किराये पर चल रहे हैं। बीते 12 महीनो से इन भवनों का किराया नहीं दिया गया है। कई बार इसकी शिकायत संबंधित अधिकारियों से भी की गई है लेकिन वह आचार संहिता का बहाना बना दिया।

देवास के पटेल नगर के आंगनबाड़ी केंद्र का पिछले 12 महीने भवन का किराया न मिलने पर भवन के मालिक ने आंगनबाड़ी केंद्र पर ताला लगा दिया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने अपनी ड्यूटी निभाते हुए सड़क के किनारे नाली के पास बच्चों को बैठाकर पोषाहार खिलाया। इसकी जानकारी जब अधिकारियों को मिली तो आनन फानन में वह फाइलों को आगे बढ़ा कर भुगतान निपटाने की बात कर रहे हैं।

भवन मालिक इंदर बाई से जब मकान खाली कराने के संबंध में पूछा गया तो वह कहती हैं कि उन्हें पिछले 12 महीने से किराया नहीं मिला है। उनका भी परिवार है। बच्चे हैं, उनका स्कूल में दाखिला कराना है। गरीब परिवार से हैं, खर्चा भी चलाना है। जब भी मैडम से किराया को लेकर बात की वह आश्वासन ही देती रही।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रेखा परमार से जब यह पूछा गया कि भवन खाली कराने को लेकर क्या अधिकारियों को अवगत कराया? तो उन्होंने बताया कि इस संबंध में कई बार अधिकारियों को बताया। आज भी जब भवन खाली कराया गया तो संबंधित अधिकारी को इसकी जानकारी दी, लेकिन उधर से कोई जवाब नहीं आया।

ये भी पढ़ें- सरकार की योजनाएं तो बहुत हैं, लेकिन हम तक पहुंचती नहीं'

जिला कार्यक्रम अधिकारी ने जल्द ही किराया भूगतान का दिया आश्वासन

इस बाबत जब जिला कार्यक्रम अधिकारी रेलम बघेल कहती हैं, "बच्चों को सड़क किनारे खाना खिलाने की मुझे जानकारी नहीं थी। अब जानकारी मिली तो मामले पर कार्रवाई की जा रही है। किराये की भूगतान न होने पर उन्होंने कहा कि आचार संहिता की वजह से भूगतान नहीं हो पाया था। अब फाइल आगे बढ़ा दी गई है। जल्द ही भवन के किराये का भूगतान कर दिया जाएगा। किराये को लेकर भवन मालिक को परेशान ही नहीं होना था। सरकारी काम है आज नहीं तो कल किराये का भूगतान हो ही जाएगा।"

कलेक्टर ने जल्द से जल्द सभी भवनों का किराया भूगतान का दिया आदेश

कलेक्टर श्रीकांत पांडे ने पूरे देवास में जिन भी आंगनबाड़ी केंद्र के भवनों के किराये का भूगतान नहीं हुआ है उन केंद्रो का जल्द से जल्द भूगतान पूरा करने का आदेश दे दिया है। उन्होंने कहा कि चुनाव में आचार सहिंता लगने से भूगतान करने में देरी हुई है आगे से समय पर आंगनबाड़ी केंद्रों का भूगतान करा दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- बस्तर में आदिवासी आज भी बैंकों में नहीं रखते पैसे


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top