अमर चित्र कथा 

Kushal MishraKushal Mishra   24 Oct 2016 3:08 PM GMT

अमर चित्र कथा साभार: गूगल इमेज

लखनऊ। इन दिनों अमर सिंह का नाम एक बार फिर चर्चा में है। अमर सिंह समाजवादी पार्टी में ही नहीं, बल्कि यादव परिवार में कलह का कारण बन चुके हैं। असल में चाचा और भतीजे की लड़ाई में निशाना मुलायम सिंह यादव प्रिय अमर सिंह ही हैं। एक तरफ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जहां पार्टी में उनको बाहरी व्यक्ति की संज्ञा दी, वहीं सपा के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव राम गोपाल यादव ने भी अमर सिंह को समाजवादी पार्टी के अंदर घमासान मचने का मुख्य कारण माना है। गौर करने वाली बात यह है कि अमर सिंह कारपोरेट जगत से लेकर सियासत तक जब-जब किसी परिवार के साथ जुड़े हैं, इतिहास गवाह है कि वह परिवार के लिए रिश्तों में दरार की वजह बने हैं। पिछले दो दशक में अमर सिंह की कहानी वास्तव में किसी अमर चित्र कथा की तरह ही नजर आती है।

साभार: गूगल इमेज

सियासत: सपा में राजबब्बर को दिखाया था बाहर का रास्ता

साभार: गूगल इमेज

2003 में अमर सिंह मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी के नजदीक आए और पार्टी में कॉरपोरेट कल्चर लाने की वजह से मुलायम प्रिय बन गये। मुलायम सिंह के साथ अमर सिंह का गठजोड़ की वजह से पार्टी में विरोध होना शुरू हो गया। इस समय सबसे पहले अंगुली उठाने वाले राजबब्बर को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता तक से निलंबित होना पड़ा। इतना ही नहीं, सपा में कई कद्दावर नेताओं को भी संगठन से उपेक्षित कर दिया गया। इस बीच विरोध के स्वर और भी मुखर होते गये और अमर सिंह के साथ तल्खी के चलते कद्दावर नेता आजम खान की भी सपा से विदाई हो गई। इसके बाद परिवार में भी अमर सिंह के नाम पर विरोध के स्वर गूंजने लगे। दबाव में आने के बाद मुलायम सिंह यादव को आखिरकार अमर सिंह का इस्तीफा स्वीकार करना पड़ा।

साभार: गूगल इमेज

कॉरपोरेट: अंबानी परिवार में भी रहा दखल

साभार: गूगल इमेज

अमर सिंह का कॉरपोरेट जगत में अंबानी परिवार के साथ भी जुड़ाव रहा। अपने को धीरुभाई अंबानी का सगा बताया। ऐसा कहा जाता है कि अमर सिंह की वजह से ही मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के बीच झगड़े की नौबत आई। उस दौरान अमर सिंह ने पेट्रोलियम कारोबार के बंटवारे को लेकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी क्योंकि तत्कालीन सरकार के पेट्रोलियम सचिव से अमर सिंह के करीबी रिश्ता था। तब मुकेश अंबानी काफी समय तक अमर सिंह के साथ रहे और दोनों भाईयों में बंटवारे को लेकर अमर सिंह ने मध्यस्थता की भूमिका निभाई। मगर दोनों भाईयों के बीच कड़वाहट बढ़ने पर अंबानी बंधुओं ने अमर सिंह को कुनबे से बाहर कर दिया। दोनों बंधुओं ने झगड़े का कारण अमर सिंह की दखलअंदाजी ही बताया।

साभार: गूगल इमेज

बॉलीवुड: अमिताभ बच्चन ने भी अमर सिंह से किया किनारा

साभार: गूगल इमेज

एक वक्त था जब अमिताभ बच्चन की एबीसीएल कंपनी दिवालिया घोषित हो गई और अमिताभ बच्चन के लिए बुरा दौर शुरू हो गया था। उस वक्त जब अमिताभ बच्चन के सामने मदद का हाथ बढ़ाने वालों में अमर सिंह सामने आए। उस दौरान अमर सिंह ने सहाराश्री सुब्रत राय से अमिताभ बच्चन की भेंट कराई और तब अमिताभ का ग्लैमर जहां सहाराश्री के लिए काम आया तो वहीं सहाराश्री का पैसा अमिताभ के लिए। इस बीच दोनों ही कदों को अमर सिंह ने खूब भुनाया। हालांकि 2010 में जब अमर सिंह के सपा से बाहर हो जाने के बाद जब अमिताभ और जया बच्चन ने अमर सिंह का साथ नहीं दिया और अमर सिंह को अकेले ही पार्टी छोड़नी पड़ी।

साभार: गूगल इमेज

बॉलीवुड, कॉरपोरेट जगत, सियासत, हर जगह फिट बैठे अमर सिंह

साभार: गूगल इमेज

अमर सिंह सिर्फ ग्लैमर जगत बॉलीवुड ही नहीं, बल्कि कॉरपोरेट जगत से लेकर सियासत तक हर जगह फिट नजर आए। एक वक्त था कि अमर सिंह हर जगह दिखाई देते थे। अमर सिंह की शख्सियत ही ऐसी रही कि एक तरफ जहां बॉलीवुड के कलाकारों ने उनको हाथों हाथ लिया, वहीं कॉरपोरेट जगत के कई परिवार के अमर सिंह प्रिय बने रहे। यानी अमर सिंह जहां भी रहे, मीडिया की सुर्खियों में छाए रहे। मगर इतिहास पर गौर करें तो अमर सिंह हमेशा विवादों से घिरे रहे और परिवार के बीच दरार की वजह भी बने।

साभार: गूगल इमेज

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top