यूपी में सपा सरकार के मजबूत स्तंभ रहे अफसरों का तबादला

यूपी में सपा सरकार के मजबूत स्तंभ रहे अफसरों का तबादलासपा सरकार में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।

मुख्य संवाददाता

लखनऊ। योगी सरकार में आईएएस अधिकारियों के दूसरे बड़े फेरबदल में पिछली सरकार के मजूबत स्तंभों को ध्वस्त किया गया है। हजारों करोड़ की परियोजनाओं में गड़बड़ी सामने के आने के बाद फिलहाल लखनऊ विकास प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार सिंह को प्रतीक्षारत कर के सरकार ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। दूसरी ओर रुद्र प्रताप सिंह, लंबे समय तक आवास विकास परिषद में मलाई मारने के आरोपी रहे हैं, उनको भी प्रतीक्षारत कर दिया गया है। 41 अफसरों की फेहरिस्त में बस दो ही अधिकारियों को वेटिंग में डाला गया है। ऐसे में निकट भविष्य में इन अधिकारियों पर और बड़ी गाज गिरने की आशंका है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को सरकार के एक महीने पूरे होने के साथ ही नौकरशाही में बड़ा फेरबदल किया। उन्होंने प्रदेश में 41 आईएएस अफसरों के तबादले किए हैं। इससे पहले भी योगी ने 20 आईएएस अधिकारियों के तबादले किए थे।


राज्य सरकार की ओर से 41 आईएएस अधिकारियों की सूची मंगलवार दोपहर बाद जारी की गई। सूची के मुताबिक, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग में विशेष सचिव पद पर तैनात योगेश कुमार शुक्ल का स्थानांतरण कर उन्हें लखनऊ में विशेष सचिव के साथ राज्य संपत्ति अधिकारी बनाया गया है। इसके अलावा कानपुर देहात के जिलाधिकारी कुमार रविकांत सिंह को लखनऊ में अपर आयुक्त के रूप में कार्यरत किया गया है। वहीं, राकेश कुमार सिंह अब कानपुर देहात के नए डीएम होंगे।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह को हटाकर फिलहाल कोई तैनाती नहीं दी गयी है। उनके स्थान पर बस्ती के जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह को लखनऊ विकास प्राधिकरण का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक (प्रशासन) अरविन्द कुमार सिंह को बस्ती का जिलाधिकारी बनाया गया है। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं निर्वाचन विभाग के सचिव अनिल गर्ग लखनऊ के नये मण्डलायुक्त होंगे। अनीता भटनागर जैन को खेलकूद एवं युवा कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव पद के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त करते हुए चिकित्सा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव पद पर बरकरार रखा गया है।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इसके अलावा नरेंद्र शंकर पांडे को जालौन का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। वह वित्त विभाग में विशेष सचिव थे। वाराणसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष प्रकाश चंद्र श्रीवास्तव का तबादला कर उन्हें विशेष सचिव (सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग) बनाया गया है। इलाहाबाद में मंडलायुक्त राजन शुक्ला का स्थानांतरण कर उन्हें नागरिक सुरक्षा एवं राजनैतिक पेंशन विभाग में प्रमुख सचिव पद पर कार्यरत किया गया है। इसके अलावा आगरा के मंडलायुक्त आईएएस अधिकारी चंद्रकांत का भी तबादला किया गया है। वह अब लखनऊ में राज्य मानवाधिकार आयोग में सचिव (राज्य) होंगे।

एलडीए और परिषद में जम कर हुई फिजूलखर्ची

सपा सरकार के समय में अरबों रुपये की फिजूलखर्ची सामने आई है। सत्येंद्र कुमार सिंह के समय में जनेश्वर मिश्र पार्क, जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय सेंटर, चक गजरिया सिटी, हुसैनाबाद हेरिटेज जोन आदि में जम कर फिजूलखर्ची की गई। दूसरी ओर आवास विकास परिषद ने भी अवध शिल्पग्राम के अलावा अनेक बड़ी बिल्ड़िंगों के निर्माण में अपव्यय के प्रकरण सामने आए। साथ ही कई जगह बेशकीमती जमीन का सौदा किया गया। इन दोनों ही मामलों में सत्येंद्र कुमार सिंह और रुद्र प्रताप सिंह पर लंबे समय तक आरोप लगते रहे मगर दोनों अफसरों का सपा सरकार में बाल भी बांका नहीं हो सका।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top